DA Image
5 जुलाई, 2020|2:50|IST

अगली स्टोरी

लादेन को ढूंढ निकालनेवाले खोजी कुत्ते से सीआईएसएफ रोकेगी मेट्रो में ‘फिदायीन’ हमला

A Belgian Malinois dog. These dogs were first deployed in the Kaziranga National Park for anti-poach

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की दिल्ली मेट्रो ईकाई की योजना बेल्जियन मेलिनोइज के दस्ते को खरीदने की है। ताकि, किसी भी तरह के संभावित आत्मघाती हमलों का पता लगाया ज सके। यह कुत्ता उस वक्त सुर्खियों में आया था जब साल 2001 में पाकिस्तान के एबटाबाद में छिपे ओसामा बिन लादेन को इसने सूंघते हुए ढूंढ उसे निकाला था।
   
दिल्ली मेट्रो और इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर संभावित फिदायीन हमले को नाकाम करने के लिए सीआईएसएफ इन कुत्तों को प्रशिक्षित करेगी। इन दोनों ही जगहों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआईएसएफ के हाथों में है।

अगर इसका ऑर्डर दिया जाता है तो फिदायीन हमले को रोकने के लिए केन्द्रीय बल के पास कुत्तों का यह पहला दस्ता होगा। पहली बार इन्हें काजीरंगा नेशनल पार्क में जानवरों को शिकार बनाए जाने के खिलाफ तैनात किया गया था। यह कदम ऐसे वक्त पर उठाया गया है जब लगातार खुफिया एजेंसियों की तरफ से इन दोनों ही संवेदनशील जगहों पर आत्मघाती हमले की चेतावनी दी जा रही है।

सीआईएसएफ के सीनियर अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने इसे इसलिए चुना क्योंकि इससे पहले लेब्राडोर्स, जर्मन शेफयार्ड्स और कोकर स्पेनियल्स डमी टेस्ट के दौरान फिदायीन हमले को डिटेक्ट करने में नाकाम रहा। सीआईएसएफ की मेट्रो यूनिट में इस वक्त 63 कुत्ते हैं।

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया- “फिदायीन हमले रोकने के लिए हाल में एक कुत्तों के दस्तों का अभ्यास किया गया था। हमारे लोग विस्फोटकों के साथ आतंकवादियों की शक्ल में थे। कुत्तों को छोड़ दिया गया कि वह विस्फोटकों का पता लगाए। हमारे वर्तमान दस्तों का विस्फोटकों को पता लगाने में महारत हासिल है। लेकिन फिदायीन हमलावरों की पहचान में वे ज्यादा प्रभावी नहीं रहा।”  
ये भी पढ़ें: खुलासाः कश्मीर में बच्चों को ढाल बना रहे आतंकी- संयुक्त राष्ट्र

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Dogs who sniffed out Bin Laden to help CISF track fidayeen attackers in Delhi Metro airport