Doctors Strike over 40 Thousand patient did not got Treatmentin Delhi AIIMS due to octors strike in kolkata - डॉक्टरों के हड़ताल से बढ़ी परेशानी : दिल्ली में 1000 सर्जरीज टलीं, 40 हजार मरीजों को नहीं मिला इलाज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉक्टरों के हड़ताल से बढ़ी परेशानी : दिल्ली में 1000 सर्जरीज टलीं, 40 हजार मरीजों को नहीं मिला इलाज

doctors strike

राजधानी दिल्ली में डॉक्टरों की हड़ताल के चलते शुक्रवार को छह अस्पतालों में एक हजार से अधिक सर्जरी टल गईं और लगभग 40 हजार मरीजों को इलाज नहीं मिल सका। दिल्ली के छह बड़े अस्पतालों में शुक्रवार को हड़ताल की वजह से सर्जरी, जांच, वार्ड की सेवाएं और ओपीडी बंद रहीं। इन अस्पतालों में एम्स, सफदरजंग, लोकनायक, जीबी पंत, गुरू तेग बहादुर अस्पताल (जीटीबी) और गुरू नानक देव नेत्र चिकित्सालय शामिल हैं। हड़ताल से प्रभावित अस्पतालों में लगभग 40 हजार मरीजों का इलाज प्रभावित हुआ है। एम्स में लगभग 10 हजार मरीजों को हर रोज ओपीडी में देखा जाता है। 

एम्स में 645 सर्जरी टलीं
एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर के मुताबिक एम्स में शुक्रवार को लगभग 645 छोटी और बड़ी सर्जरी होनी थीं। हड़ताल की वजह से इमरजेंसी को छोड़कर अधिकतर सर्जरी रद्द हो गईं। वहीं सफदरजंग में लगभग 200, लोकनायक अस्पताल में 100, जीबी पंत में 80, जीटीबी अस्पताल में 50 और गुरू नानक देव नेत्र चिकित्सालय में 40 सर्जरी रद्द हो गईं। 

अब कब सर्जरी होगी पता नहीं

डॉक्टरों की हड़ताल के कारण जिन मरीजों को ऑपरेशन के लिए पहले से 14 जून की तारीख दी थी, उन्हें अस्पताल पहुंचने के बाद हड़ताल के बारे में जानकारी मिली। हालांकि कुछ मरीजों का यहां तक कहना था कि हड़ताल की जानकारी तो उन्हें मिल गई थी लेकिन ऑपरेशन को लेकर दोबारा कब अस्पताल आना है, इसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई। अधिकतर मरीजों के मुताबिक सर्जरी का दोबारा समय लेने के लिए अब इन्हें सोमवार से फिर अस्पताल के चक्कर काटने पड़ेंगे। हड़ताल की वजह से दूर दराज के क्षेत्रों से आए मरीजों को अब फिर से समय लेने और नई ऑपरेशन की तारीख लेने के लिए अस्पताल आना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Doctors Strike over 40 Thousand patient did not got Treatmentin Delhi AIIMS due to octors strike in kolkata