DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली की हवा में घुला जहर: डॉक्टर बोले-मास्क पहनकर निकलें बाहर-VIDEO

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर शुक्रवार को बेहद ख़तरनाक स्तर पर पहुंच गया।

दिल्ली की हवा में पांच दिनों में प्रदूषण का स्तर अधिक बढ़ गया है। इससे लोगों को सांस लेने, आंखों में जलन जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पटेल चेस्ट इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. राजकुमार के मुताबिक इस तरह के प्रदूषण का असर बच्चों और बड़ों दोनों पर पड़ सकता है। शुक्रवार को दिल्ली के कई इलाकों में पीएम 10 की मात्रा 900 से अधिक थी, जबकि इसकी मात्रा 100 से अधिक नहीं होनी चाहिए। डॉक्टरों ने अचानक हवा की गुणवत्ता गंभीर स्तर तक बिगड़ने से घर के अंदर रहने व मास्क पहनने की सिफारिश की। 

जहरीली हुई दिल्ली-एनसीआर की हवा, प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचा

डॉ. राजकुमार ने कहा कि इससे लोगों में अस्थमा और क्रॉनिकल ब्रोंकाइटिस का खतरा बढ़ जाता है। हालांकि, इसका असर कुछ दिन बाद दिखाई दे सकता है। उन्होंने कहा कि ये हवा फेफड़ों के लिए नुकसानदायक है। लेकिन सर्दियों में यह प्रदूषण गर्मियों के मुकाबले अधिक नुकसान पहुंचाएगा। वहीं, बीएल कपूर अस्पताल में डॉक्टर आरके सिंघल ने कहा कि पीएम2.5 और पीएम 10 की मात्रा बढ़ जाने से यह हवा फेफड़ों के अलावा त्वचा और आंखों के लिए भी नुकसानदायक है। 

सिंघल ने कहा, अस्थमा जैसे सांस से जुड़े रोग वाले लोगों के लिए, क्रोनिक ऑबस्ट्रक्टिव एयरवेज डिजीज (सीओएडी) या एम्फिसीमा में धूल की मात्रा में थोड़ी भी बढ़ोतरी उनके लक्षणों को खराब बना सकती है।” धूल के कणों के काफी बारीक होने से सांस में जाने से आंखों में जलन, खांसी, छींक, बुखार व अस्थमा का दौरा पड़ सकता है। धूल के संपर्क में ज्यादा देर तक रहने से शिशुओं, छोटे बच्चों व बुजुर्ग लोगों में स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा होने की संभावना है।


दिल्ली में धूलभरी हवाओं का दौर जारी

राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को भी धूलभरी हवाएं चलने का सिलसिला जारी है। न्यूनतम तापमान सामान्य से छह डिग्री ज्यादा 33.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “धूलभरी हवाएं जो मंगलवार से अपना असर दिखा रही हैं, वे शुक्रवार को भी दिनभर चलती रहेंगी। बारिश होने की कोई संभावना नहीं है।”

अधिकारियों के मुताबिक, ये धूलभरी हवाएं राजस्थान, ईरान और दक्षिणी अफगानिस्तान की ओर से चल रही हैं। अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री ज्यादा 40.5 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। सुबह 8.30 बजे आर्द्रता का स्तर 43 फीसदी दर्ज हुआ। वहीं, गुरुवार को अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री ज्यादा 34 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Doctors prescription for Delhi hazardous dusty air is stay indoors wear masks