DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूटी में न रखें ATM कार्ड और मोबाइल, खाली हो जाएगा खाता

 do not keep atm card and mobile in scooty  otherwise wipe out your entire bank account

अगर आप परीक्षा देने जा रहे हैं तो स्कूटी में मोबाइल, डेबिट-क्रेडिट कार्ड रखकर न जाएं। ऐसा किया तो बैंक खाते में बैलेंस शून्य हो सकता है। उत्तर प्रदेश के मेरठ सहित एनसीआर में आजकल ऐसा गिरोह सक्रिय है जो परीक्षा केंद्रों की पार्किंग में खड़ी स्कूटी से मोबाइल-कार्ड चुराकर बैंक खाते खाली कर रहा है। नोएडा-मेरठ में ऐसे 19 मामले सामने आए हैं, जिन्हें गाजियाबाद के गिरोह ने अंजाम दिया है।

15 जुलाई को काइट कॉलेज की पार्किंग में खड़ी स्कूटी से तनजीला और कोमल का बैग चोरी हो गया। इसमें उनके मोबाइल, कार्ड रखे हुए थे। चोरों ने तनजीला के एटीएम कार्ड का प्रयोग कर खाते से 65 हजार रुपये निकाल लिए। इसी तरह सविता महाविद्यालय की पार्किंग में दिशा सैनी की स्कूटी से सामान चोरी हुआ। दिशा और उसकी सहपाठी शालू के खाते से करीब 1.10 लाख रुपये निकाले गए। नीलकंठ कॉलेज की छात्रा आरती की स्कूटी से भी कार्ड-मोबाइल चोरी कर खाते से रकम निकाली गई।

जानें महिला ने गूगल पर ऐसा क्या सर्च किया कि उसका बैंक अकाउंट पल भर में खाली हो गया

मेरठ पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने इन प्रकरणों की जांच की। जांच में पाया कि स्टूडेंट्स बनकर कंधे पर बैग टांगकर आए युवकों ने बड़े आराम से स्कूटी की डिग्गी खोली। सामान को बैग में रखा और फरार हो गए। स्टूडेंट्स जैसी वेशभूषा होने से पार्किंग वालों की नजर उन पर नहीं गई।

साइबर सेल एक्सपर्ट्स उमेश वर्मा के मुताबिक चोरों का उद्देश्य सिर्फ बैग चुराना नहीं, छात्राओं के बैंक खाते खाली करना था। चोर यह बात जानते थे कि परीक्षा के दौरान स्टूडेंट्स सारा सामान बाहर रखकर जाते हैं। इसलिए चोरों ने स्कूटी से उनके मोबाइल व कार्ड चुराए। छात्र-छात्राओं के मोबाइल से सिम निकालकर दूसरे मोबाइल में डाल लिए। इससे बैंकिंग प्रक्रिया के दौरान पूछे जाने वाले सभी वन टाइम पासवर्ड चोरों को प्राप्त होते रहे। इसका फायदा उठाकर उन्होंने ऑनलाइन शॉपिंग की। कुछ रकम अपने पेटीएम वॉलेट में ट्रांसफर की, जबकि कुछ रकम एटीएम से निकाली। इस तरह नोएडा में 14 और मेरठ में 5 बैंक खाते खाली कर दिए गए। सभी वारदात पार्किंग में खड़ी स्कूटी से मोबाइल-कार्ड चुराकर की गईं।

गाजियाबाद में लोकेशन
पुलिस ने बताया कि ऐसे मामलों में जितने भी मोबाइल चोरी हुए, उनकी आखिरी लोकेशन गाजियाबाद जिले में आई। इससे स्पष्ट है कि स्कूटी से सामान चोरी कर बैंक खाते खाली करने वाला गिरोह गाजियाबाद जिले में ठिकाना बनाए हुए है।

पुलिस ने जारी किए फोटो
मेरठ साइबर क्राइम सेल ने सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए दो आरोपियों के फोटो जारी किए हैं। इन संदिग्धों के कहीं भी दिखने पर सीयूजी नंबर-7839855538 पर सूचना देने की अपील की है। नोएडा और गाजियाबाद पुलिस को भी ये फोटो भेजे गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Do not keep ATM card and mobile in Scooty otherwise wipe out your entire bank account