अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ना बनें सोने पर हॉलमार्क की क्लोनिंग से ठगी के शिकार, खरीदते समय ध्यान रखें ये बातें

gold hallmark cloning

सोने के आभूषणों पर बना हॉलमार्क वैसे तो इसकी शुद्धता की गारंटी माना जाता है, लेकिन इसकी क्लोनिंग के जरिए बड़ी सफाई से ग्राहकों को ठगा जा रहा है। पिछले दिनों कई बार आभूषणों के हॉलमार्क क्लोनिंग का मामला सामने आ चुका है। चूंकि हॉलमार्क को निजी कंपनियां प्रमाणित करती हैं, इसलिए इस पर आंख बंदकर भरोसा करना और भी मुश्किल होता है।

कैरेट की संख्या बढ़ा देते हैं धोखा
फर्जीवाड़ा करने वाले कई बार हॉलमार्किंग तो असली रखते हैं, लेकिन रजिस्टर्ड जूलर मार्किंग सेंटर वालों को पैसे खिलाकर कम कैरेट वाले सोने पर एक दो नंबर ज्यादा कैरेट का निशान छपवा लेते हैं। इससे आभूषण की कीमत कैरेट के हिसाब से बढ़ जाती है और ग्राहक को चपत लग जाती है।

प्रक्रिया में गड़बड़झाला
जब भी किसी सेंटर में जांच के लिए आभूषणों को लाया जाता है तो उसमें दो-तीन को जांचा जाता है। चूंकि, हॉलमार्क करने वाली सरकारी इकाई नहीं है, बल्कि मानक ब्यूरो द्वारा निजी कंपनियों को प्रमाणित किया गया होता है। ऐसे में यह प्रक्रिया विश्वास के लायक नहीं होती।

देशभर में 600 जगहों पर जांच
आभूषणों की शुद्धता की जांच को 600 एसेईंग एंड हॉलमार्किंग सेंटर हैं। सबसे ज्यादा एएंडएच सेंटर महाराष्ट्र में हैं। इसके बाद तमिलनाडु और गुजरात का नंबर है। यूपी में 33, उत्तराखंड में एक, बिहार में 10, झारखंड में चार और दिल्ली में 40 सेंटर हैं। 

दो केंद्रीय जांच सेंटर
हॉलमार्क ज्वैलर्स से सैंपल लेने के बाद इनकी शुद्धता की जांच के लिए भारतीय मानक चेन्नई व साहिबाबाद (गाजियाबाद) स्थित दो केंद्रीय जांच केंद्रों में भेजता है। 

हॉलमार्क ज्वैलरी का फायदा
-हॉलमार्क वाले आभूषण खरीदने पर नकली सोना मिलने का चांस कम रहता है।
-हॉलमार्क वाले आभूषण बेचने पर ज्वेलर्स डिप्रेसिएशन कॉस्ट नहीं काटते हैं।
-आप जब भी अपने गहने को बेचने जाएंगे तो हॉलमार्क होने से इसका वाजिब दाम मिल सकेगा।
-हालमॉर्किंग से सोने की अवैध खरीद-फरोख्त पर लगाम लगेगी। 

खरीदते समय ये सावधानी जरूरी
-बीआईएस रजिस्टर्ड सेंटर से कराई गई हॉलमार्किंग के तहत गहनों के हर पीस पर 5 तरह के मार्क छापे जाते हैं। 
-पहला बीआईएस का लोगो, दूसरा फिटनेस नंबर यानी कैरेट का संकेत, तीसरा मार्किंग सेंटर का लोगो, चौथा वर्ष कोड और पांचवां बेचने वाले जूलर का लोगो या ट्रेड मार्क।
 
-बीआईएस रजिस्ट्रेशन के बिना ही आधा-अधूरा हॉलमार्किंग कराने वाले 5 मुहर की जगह 3 या 4 ही रखते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Do not become fooled by the cloning of Hallmark on gold keep these things in mind when buying gold