ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशहिंदी हार्टलैंड को लेकर DMK सांसद के बिगड़े बोल; BJP बोली-सनातन का अपमान

हिंदी हार्टलैंड को लेकर DMK सांसद के बिगड़े बोल; BJP बोली-सनातन का अपमान

लोकसभा सत्र में मंगलवार को डीएमके सांसद की बातों से विवाद की स्थिति पैदा हो गई। अपने संबोधन के दौरान द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के सांसद डीएनवी सेंथिलकुमार ने हिंदी हार्टलैंड को लेकर विवादित बयान दिया।

हिंदी हार्टलैंड को लेकर DMK सांसद के बिगड़े बोल; BJP बोली-सनातन का अपमान
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 06 Dec 2023 10:24 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा सत्र में मंगलवार को डीएमके सांसद की बातों से विवाद की स्थिति पैदा हो गई। अपने संबोधन के दौरान द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के सांसद डीएनवी सेंथिलकुमार ने हिंदी हार्टलैंड राज्यों को लेकर विवादि बयान दिया। सेंथिलकुमार एस. ने कहाकि इस देश के लोगों को यह सोचना चाहिए कि भाजपा की ताकत केवल हिंदी राज्यों में चुनाव जीतना है, जिन्हें हम आम तौर...। बाद में संसद की कार्यवाही से उनके इस बयान को हटा दिया गया। डीएमके सांसद के इस बयान के बाद विवाद की स्थिति बन गई है। जहां भाजपा ने उनके ऊपर पलटवार करते हुए इस बयान को सनातन के ऊपर हमला बताया है। वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस ने बचाव की मुद्रा अख्तियार कर ली है और कहा है कि वह लोग गौमाता की इज्जत करते हैं।

कहा-कोई विवादास्पद बयान नहीं
डीएवी सेंथिलकुमार तमिलनाडु के धरमपुरी से सांसद हैं। मंगलवार को लोकसभा की कार्रवाई के दौरान वह तीन हिंदी भाषी राज्यों में भाजपा की जीत का जिक्र कर रहे थे। वहीं, अपने इस बयान के बाद सेंथिलकुमार की बड़ी पैमाने पर आलोचना हो रही है। केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहाकि यह सनानत परंपरा का अपमान है। उन्होंने कहाकि डीएमके को बहुत जल्द पता चल जाएगा कि गौमूत्र के फायदे क्या होते हैं। उन्होंने कहाकि देश के लोग यह बात बर्दाश्त करने वाले नहीं हैं। वहीं विवाद बढ़ने के बाद सांसद डीएनवी सेंथिलकुमार एस ने कहाकि जब मैंने सदन के अंदर बयान दिया तो उस समय गृह मंत्री और भाजपा सदस्य वहां मौजूद थे। यह कोई विवादास्पद बयान नहीं है। उन्होंने कहाकि मैं अगली बार कुछ अन्य शब्दों का उपयोग करने का प्रयास करूंगा।

अकेले डीएमके नेता नहीं
गौरतलब है कि सेंथिलकुमार अकेले डीएमके नेता नहीं हैं जिन्होंने हाल के समय में कोई विवादास्पद बयान दिया है। इससे पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन के बेटे उदयनिधि ने सितंबर में सनातन धर्म को मिटाने की बात कही थी। बाद में कांग्रेस की हुई हार को के लिए तमाम नेताओं ने उनके इस बयान को ही जिम्मेदार बताया था। इन नेताओं ने कहा था कि कांग्रेस को सनातन का श्राप लगा था। वहीं, उदयनिधि ने कहा था कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया था।

सभी ने की आलोचना
डीएमके सांसद डीएनवी सेंथिलकुमार एस की गौमूत्र वाली टिप्पणी की सभी ने आलोचना की है। आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहाकि डीएमके के नेताओं की अगर यही हरकतें रहीं और सनातन धर्म के खिलाफ वे ऐसी ही बकवास करते रहे तो गौमूत्र वाले राज्यों में ही नहीं सांड वाले राज्यों में भी भाजपा का परचम लहरा जाएगा। वहीं, भाजपा सांसद सुशील मोदी ने कहा कि इस प्रकार की भाषा का खामियाजा उन्हें तीन राज्यों के चुनाव में भुगतना पड़ा है... ऐसी हल्की टिप्पणी करना उचित नहीं है, ऐसे लोगों को लोकसभा चुनाव में जनता सबक सिखाएगी। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहाकि जो जिस तरह से सोचते हैं वे उसी तरह कहते हैं, इसका भारत की जीवन पद्धति में कितना महत्व है उसका उन्हें अंदाज़ा नहीं है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें