ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशराहुल गांधी ने 10 साल में ऐसी क्या 'तपस्या' की, जिसने कांग्रेस को 99 सीटों तक पहुंचाया

राहुल गांधी ने 10 साल में ऐसी क्या 'तपस्या' की, जिसने कांग्रेस को 99 सीटों तक पहुंचाया

राहुल गांधी ने चुनावों से पहले देश में दो पैदल यात्राएं की। इन यात्राओं से राहुल गांधी सीधे आम जनता के संपर्क में आए। सोशल मीडिया पर RAGA को बहुत ज्यादा चलाया गया। कांग्रेस को 2024 में 99 सीटें मिली।

राहुल गांधी ने 10 साल में ऐसी क्या 'तपस्या' की, जिसने कांग्रेस को 99 सीटों तक पहुंचाया
Prachiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 05 Jun 2024 12:07 PM
ऐप पर पढ़ें

राहुल गांधी की ओर से देश में दो पैदल यात्राएं निकालना और संविधान के खतरे में होने का सवाल उठाना शायद कांग्रेस के हित में रहा है। 2019 में 52 सीटों पर जीती कांग्रेस अब 99 के आंकड़े पर पहुंच गई है। INDIA अलायंस ने 2024 लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली एनडीए को कड़ी टक्कर दी। 2024 के नतीजों ने सबको चौंका दिया। एनडीए को 294 और INDIA अलायंस को 232 सीटें मिली। 

इंडिया अलायंस के बेहतर प्रदर्शन के लिए लोग कांग्रेस नेता राहुल गांधी को श्रेय दे रहे हैं। राहुल गांधी ने चुनावों से पहले देश में दो पैदल यात्राएं की- भारत जोड़ों यात्रा और भारत जोड़ों न्याय यात्रा। इन यात्राओं ने राहुल गांधी को सीधे आम जनता के संपर्क में लाया। राहुल गांधी ने यात्रा के दौरान अपनी सफेद पोलो टी-शर्ट पहनी और संविधान की पॉकेट साइज कॉपी अपने पास रखी। उन्होंने 2024 के लोकसभा चुनाव की नींव भारत जोड़ों यात्रा के जरिए पूरे देश में रखी। राहुल गांधी अपनी चुनावी रैलियों में भाजपा पर आक्रामक होकर संविधान को बदलने और तानाशाही का आरोप लगाते थे। उन्होंने लोगों से संविधान को बचाने की अपील की। गांधी हमेशा अपने साथ संविधान की कॉपी रखते हैं। शायद इसी कारण कांग्रेस ने 2019 से 2024 में बेहतर प्रदर्शन किया। 

मंगलवार शाम राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत के लोगों ने देश और संविधान को बचाया है। देश की गरीब और वंचित आबादी अपने अधिकारों की रक्षा के लिए भारत के साथ खड़ी रही।

राहुल गांधी के लिए 2024 के परिणाम बहुत जरूरी हैं। 2014 और 2019 में कांग्रेस के बेकार प्रदर्शन को लेकर लोगों ने उन्हीं को जिम्मेदार ठहराया था। 2024 में एक अलग राहुल गांधी दिखाए दिए। जिन्होंने जनता से सीधा संपर् किया, आम जनता की परेशानियों को समझा, उनके मुद्दों को रखा। राहुल गांधी एक सम्वेदनशील नेता के रूप में उभरे। युवाओं से जुड़ने के लिए उन्हीं सोशल मीडिया रणनीति बहुत काम आई। 

सोशल मीडिया पर उन्होंने अपनी माँ सोनिया गांधी और बहन प्रियंका गांधी के साथ वीडियो शेयर किए। सोशल मीडिया पर रागा (RAGA) को बहुत ज्यादा चलाया गया। राहुल गांधी ने उस इल्ज़ाम को भी हटा दिया है, जहां उनको शहजादा की तरह बताया गया है और जनता उन तक नहीं पहुंच सकती।

राहुल गांधी ने एक में रैली में कहा था कि नरेंद्र मोदी ऐर भाजपा को अंतिम उद्देश्य बाबा साहेब के संविधान को खत्म करना है। वंचितों से उनके अधिकारों और आरक्षण को छीनना है।निजीकरण के जरिए सरकारी नौकरियों को खत्म करना है। राहुल गांधी ने 2024 में दो लोकसभा सीटों रायबरेली और वायनाड से चुनाव लड़ा है। दोनों सीटों में से वे कौन -सी सीट को रखते हैं, यह देखना दिलचस्प होगा। ऐसा कयास लगाया जा रहा है कि वे रायबरेली की सीट रखेंगे।