ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपेपरलीक पर बोले शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कहा,पारदर्शी, छेड़छाड़-मुक्त, बिना किसी लीक के परीक्षा करवाना हमारी प्रतिबद्धता

पेपरलीक पर बोले शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कहा,पारदर्शी, छेड़छाड़-मुक्त, बिना किसी लीक के परीक्षा करवाना हमारी प्रतिबद्धता

पहले नीट और फिर नेट के पेपरों में हुई गड़बड़ी से सरकार बैकफुट पर है। केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि परीक्षाओं को पारदर्शी, छेड़छाड़ मुक्त तरीके से कराना हमारी प्रतिबद्धता है।

पेपरलीक पर बोले शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कहा,पारदर्शी, छेड़छाड़-मुक्त, बिना किसी लीक के परीक्षा करवाना हमारी प्रतिबद्धता
Upendraएएनआई,नई दिल्लीSat, 22 Jun 2024 08:14 PM
ऐप पर पढ़ें

केंन्द्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि हम परीक्षाओं को पारदर्शी, छेड़छाड़-मुक्त और बिना किसी गलती के करवाना हमारी प्रतिबद्धता है। इसके पहले एनटीए की परीक्षाओं में सुधार के लिए एक हाई लेवल कमेटी का गठन किया गया है, यह कमेटी 2 महीने के अंदर अपने सुझाव देकर यह बताएगी कि परीक्षाओं में क्या सुधार किए जा सकते हैं या क्या परिवर्तन किए जा सकते हैं।
यह कमेटी एक ऐसे समय में बनाई गई है जब मेडीकल कॉलेजों में दाखिले के लिए होने वाले पेपर नीट में गड़बड़ी की खबरें सामने आ रही हैं। पूरे देश में छात्रों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए प्रधान ने लिखा कि हम परीक्षाओं में कोई गलती नहीं चाहते, परीक्षाओं को साफ-सुथरा रखना हमारी प्रतिबद्धता है। प्रधान ने कहा कि एक्सपर्ट की हाई लेवल कमेटी केवल पहला कदम है, हमारी सरकार लगातार प्रयास कर रही है। कमेटी के सुझावों के आधार पर नए रिफार्म्स लाए जाएंगे जिससे डाटा सिक्योरिटी, परीक्षा प्रणाली में सुधार हो। छात्रों के हित हमारे लिए सर्वप्रथम हैं।

इस हाई लेवल कमेटी में 7 सदस्य हैं। इसकी अध्यक्षता इसरो के पूर्व चेयरमैन डॉ. राधाकृष्णन होंगे, यह कमेटी अपनी रिपोर्ट अगले दो महीनों के अंदर मंत्रालय को देगी।
शिक्षामंत्री ने कहा कि एनटीए द्वारा होने वाली परीक्षाओं को साफ-सुथरे तरीके से कराने और कोई भी कमी न छोड़ने के लिए मंत्रालय ने हाई-लेवल कमेटी का गठन किया है। कमेटी में बैठे एक्सपर्ट अपने-अपने सुझाव अपनी रिपोर्ट में देंगे। उस रिपोर्ट के आधार पर हम डाटा सिक्योरिटी, प्रोटोकॉल्स और परीक्षा की कार्य-प्रणाली और एनटीए में बेहतर ढंग से सुधार कर पाएंगे।

मंत्रालय के अनुसार, यह कमेटी परीक्षा प्रणाली में सुधारों के लिए अपने सुझाव देगी। कमेटी परीक्षाओं की पूरी प्रणाली की जांच करेगी जिससे लूप होल का पता चल सके। इसके साथ ही कमेटी एनटीए के प्रोटोकॉल्स का भी जायजा लेगी, और उनको और मजबूत करने के लिए सुझाव देगी, जिससे यह परीक्षाएं सुरक्षित हो सकें। इसके साथ ही कमेटी डाटा सिक्योरिटी को लेकर भी अपने सुझाव देगी।
कमेटी वर्तमान के सिक्योरिटी प्रोटोकॉल्स और पेपर सेटिंगसे जुड़ी सभी सुरक्षाओं की जांच करेगी और इनकी कमियों को सामने लाकर इनमें क्या सुधार किए जा सकते हैं उसके आधार पर कमेटी अपने सुझाव देगी।