DA Image
28 जनवरी, 2020|5:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Delhi Fire: फोन लेने कमरे में लौटा, फिर वापस नहीं आया; 'मां मुझे बचा लो' थे शाकिर के आखिरी शब्द

fire

अनाज मंडी की फैक्टरी में लगी आग में फंसा शाकिर हुसैन छह साथियों के साथ सकुशल बाहर निकल आया था, लेकिन कमरे में छूट गए मोबाइल व रुपये लेने वह वापस लौट गया और आग से उसकी जान चल गई। शाकिर इसी इमारत की चौथी मंजिल पर स्थित कपड़े की टोपी बनाने वाली फैक्टरी में काम करते थे। इससे चंद दूरी पर दूसरी फैक्टरी में काम करने वाले शाकिर के साथी इरशाद ने बताया कि वह शाकिर और पांच अन्य लड़के रात में टोपी बनाने की फैक्टरी में रहते थे। आग इमारत की दूसरी मंजिल पर लगी थी। उसका धुआं चौथी मंजिल तक फैल गया। आग इतनी तेजी से फैल गई कि कुछ पता नहीं लग रहा था। नीचे उतरना मुश्किल था। तड़के तीन बजे हम सब छत की तरफ भागे। शाकिर भी हमारे साथ ही कमरे से निकल गया था। मगर वह फोन और रुपये कमरे में ही भूल आया था। वह किसी को बिना बताए वापस कमरे में चला गया। उसके बाद वह वापस नहीं लौटा। हम खोजते-खोजते एलएनजेपी पहुंचे तो उसका शव मिला। 

मां मुझे बचा लो 
शाकिर हुसैन के भाई जाकिर हुसैन ने बताया कि शाकिर ने सुबह करीब तीन या साढ़े तीन बजे मां को फोन किया था। उसने मां से कहा कि मैं आग में फंस गया हूं, दम घुट रहा है और मेरा बचना मुश्किल लग रहा है। मुझे बचा लो। फिर उसका फोन बंद हो गया। इसके बाद तड़के 4 बजे मां का (मधुबनी के मलमल गांव से) फोन आया। उन्होंने बताया कि शाकिर की बिल्डिंग में आग लग गई है। वह अंदर फंस गया है, उसे जाकर बचाओ। हालांकि, बाद में एलएनजेपी में उसका शव मिला है। 

दरअसल, पुरानी अनाज मंडी की चार मंजिला इमारत में रविवार सुबह अचानक आग लगने से पांच नाबालिग समेत 43 मजदूरों की मौत हो गई। इस घटना में 22 मजदूर गम्भीर रूप से घायल भी हो गए। घायलों को राजधानी के विभिन्न अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं सदर बाजार पुलिस ने इस मामले एक इमारत मालिक को गिरफ्तार कर लिया है।

रानी झांसी रोड के पास पुरानी अनाज मंडी में चार मंजिला इमारत में सुबह करीब पांच बजे आग लग गई। करीब पांच सौ गज में बनी इस इमारत के भूतल से लेकर अलग अलग मंजिलों पर छोटे छोटे कुटीर उद्योग स्थापित हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि आग दूसरी मंजिल  से शुरू हुई और धीरे धीरे इसने पूरी इमारत को घेर लिया। इमारत के भूतल और पहली मंजिल पर रहने वाले लोग तो निकलने में कामयाब हो गए। लेकिन अन्य मंजिलों पर मौजूद 65 लोग फंस गए थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delhi fire tragedy Heart Breaking Death Story Of Shakir Hussain in Delhi Fire News