ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशदिल्ली से तेलंगाना तक तहलका, आबकारी मामले में KCR की बेटी भी घेरे में, ED ने शामिल किया नाम

दिल्ली से तेलंगाना तक तहलका, आबकारी मामले में KCR की बेटी भी घेरे में, ED ने शामिल किया नाम

ED का कहना है कि अरोरा ने जांच के दौरान कबूला है, 'साउथ कार्टेल ग्रुप को अरबिंदो फार्मा के शरत रेड्डा, के कविता और मगुंत श्रीनिवासुलु रेड्डी चलाते हैं। रुपये अमित अरोड़ा समेत कई लोगों के जरिए भेजे गए।

दिल्ली से तेलंगाना तक तहलका, आबकारी मामले में KCR की बेटी भी घेरे में, ED ने शामिल किया नाम
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 01 Dec 2022 09:57 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली शराब नीति के गूंज अब तेलंगाना तक भी पहुंच गई है। प्रवर्तन निदेशालय ने पहली बार मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी और MLC के कविता का नाम शामिल किया है। जांच एजेंसी ने आरोप लगाए हैं कि साल 2021 और 2022 के बीच कविता ने 6 बार फोन बदले हैं। ईडी ने बुधवार को आरोपी अमित अरोड़ा की रिमांड रिपोर्ट दाखिल की है।

अरोड़ा को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का करीबी माना जाता है। ईडी ने आरोप लगाए हैं, 'अब तक हुई जांच के अनुसार, आरोपी विजय नायर (आप के संचार प्रभारी) ने आम आदमी पार्टी के नेताओं के बदले 100 करोड़ रुपये साउथ कार्टेल ग्रुप नाम के समूह से हासिल किए हैं।'

ईडी का कहना है कि अरोरा ने जांच के दौरान कबूला है, 'साउथ कार्टेल ग्रुप को अरबिंदो फार्मा के शरत रेड्डा, के कविता और मगुंत श्रीनिवासुलु रेड्डी चलाते हैं। रुपये अमित अरोड़ा समेत कई लोगों के जरिए भेजे गए थे।' जांच एजेंसी ने यह भी आरोप लगाए हैं कि जांच को प्रभावित करने के लिए बड़े स्तर पर डिजिटल सबूतों को भी खत्म किया गया है।

सिसोदिया, गिरफ्तार किए जा चुके शरत रेड्डी, कविता के करीबी अभिषेक बोइनपल्ली ने भी अपने मोबाइल फोन बदले हैं। रिमांड रिपोर्ट में ईडी ने कहा, 'IMEI एनालिसिस के अनुसार, मामले में शामिल कम से कम 36 आरोपियों या संदिग्धों ने 170 फोन तबाह किए हैं। ईडी 170 में से केवल 17 फोन रिकवर कर पाई है।'

रिपोर्ट में कहा गया, 'नहीं तो दी गई रकम और भी ज्यादा होती और दूसरे अहम लोगों के शामिल होने की बात भी और ज्यादा स्पष्ट रूप से सामने आती। अधिकांश संदिग्धों ने मई 2022 से अगस्त 2022 तक अपने फोन बदले हैं।'

ईडी ने आरोप लगाए हैं आबकारी पुलिस घोटाले में शामिल आबकारी अधिकारियों और विजय नायर की मदद करने वाले दिनेश अरोड़ा के साथ अमित भी अहम व्यक्ति है। उसने 2.5 करोड़ रुपये की रिश्वत ट्रांसफर कराने में दद की है, जो विजय नायर को मिली राशि का 6 प्रतिशत है। इसके अलावा उसने आबकारी अधिकारियों के साथ मिलकर भी साजिश रची और एक करोड़ रुपये की रिश्वत दी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें