दिल्ली चुनाव नतीजे: दल बदलकर चुनाव लड़ रहे नेताओं पर सबकी नजर

वरिष्ठ संवाददाता , नई दिल्ली Last Modified: Tue, Feb 11 2020. 07:55 AM IST
offline

दिल्ली चुनाव में दल बदलने वाले नेताओं पर सभी की नजर है। क्योंकि चुनावी नतीजे नका राजनीतिक भविष्य तय करेंगे। दिल्ली के इस चुनाव में 10 से अधिक ऐसे नेता है जो दल बदलकर चुनाव लड़ रहे है। इसमें बड़े चेहरों में कपिल मिश्रा, अलका लांबा, रामसिंह नेता समेत अन्य लोग शामिल है। उसमें आप के वह विधायक भी है जो टिकट कटने के बाद मैदान में है। 

दल बदलकर चुनाव लड़ने वालों में सबसे अधिक आम आदमी पार्टी से मैदान में है। इसमें द्वारका से महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा, बदरपुर से रामसिंह नेताजी, मटियामहल से शोएब इकबाल, चांदन चौक से प्रहलाद साहनी, हरि नगर से राजकुमारी ढिल्लन समेत अन्य नेता है। पार्टी के साथ इनकी भी प्रतिष्ठा भी दांव है। यह सब बड़े राजनीतिक है या राजनीतिक परिवार से आते है। दल बदलने के बाद चुनावी नतीजों से इनका आगे का राजनीतिक भविष्य तय होगा। 

Delhi Results LIVE: वोटों की गिनती से पहले मंदिरों में नेताओं की विनती शुरू

इसी तरह भाजपा से मॉडल टाउन से कपिल मिश्रा, गांधी नगर से अनिल वाजपेयी का चुनावी परिणाम भी उनके राजनीतिक दिशा तय करेगा। यह दोनों ही आम आदमी पार्टी से भाजपा में आएं थे। आप से नाराज होकर कांग्रेस से चांदनी चौक से सीट चुनाव लड़ अलका लांबा का भी भविष्य इन चुनावी नतीजों पर निर्भर है। हालांकि यह सभी नेता अपनी जीत को लेकर आश्वस्त है। 

वहीं टिकट कटने से नाराज आप विधायक एनडी शर्मा जो कि बसपा से बदरपुर से चुनाव लड़ रहे है। कमांडो सुरेंद्र दिल्ली कैंट से एनसीपी से चुनाव लड़ रहे है। उनकी हार जीत आगे का राजनीतिक भविष्य तय होगा। दोनों को पार्टी ने मनाने की कोशिश की थी मगर वह नहीं माने। दूसरे दलों से चुनाव मैदान में उतरे है।
 

ऐप पर पढ़ें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें