DA Image
27 जनवरी, 2020|2:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली: मुख्य सचिव का कराया गया मेडिकल, आप MLA प्रकाश जारवाल अरेस्ट

सूत्रों के अनुसार देर रात तक कई अन्य विधायकों को भी हिरासत में लिया जा सकता है।

सिविल लाइंस पुलिस मंगलवार देर रात मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को अरुणा आसफ अली अस्पताल लेकर गई, जहां उनकी मेडिकल जांच की गई। वहीं दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने मुख्य सचिव से मारपीट के मामले में देवली से विधायक प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि खबर की किसी वरिष्ठ अधिकारी ने पुष्टि नहीं की है।

सूत्रों के अनुसार प्रकाश जारवाल को देर रात हिरासत में लिया गया, उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। यही नहीं एफआईआर में नामजद अन्य विधायकों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार देर रात तक कई अन्य विधायकों को भी हिरासत में लिया जा सकता है।

मुख्य सचिव से बदसलूकी पर राजनाथ आहत, माकन ने केजरीवाल से मांगा इस्तीफा

बता दें, अंशु प्रकाश की एक शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को एक प्राथमिकी दर्ज की थी। प्रकाश ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई एक बैठक के दौरान आप के कुछ विधायकों ने उनसे हाथापाई की। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गलत तरीके से रोकने, आपराधिक धमकी देने, चोट पहुंचाने और एक लोकसेवक को कर्तव्य निर्वहन से बाधित करने संबंधी भारतीय दंड संहिता की प्रासंगिक धाराओं के तहत मंगलवार को एक मामला दर्ज कर लिया गया।

दिल्ली मुख्य सचिव से बदसलूकी: पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

मुख्यमंत्री कार्यालय ने आरोपों को 'बेतुका और आधारहीन' करार देते हुए खारिज किया है। पुलिस ने कहा कि अधिकारी को केजरीवाल की ओर से विज्ञापनों से संबंधित एक मुद्दे को लेकर बुलाया गया था जिन्हें जारी नहीं किया जा रहा है। यद्यपि आप ने दावा किया कि उन्हें राशन को लेकर एक चर्चा के लिए बुलाया गया था। घटना पर केजरीवाल सरकार भाजपा और कांग्रेस ने निशाने पर आ गई है। कांग्रेस ने घटना की आलोचना करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल को माफी मांगने को कहा है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए केजरीवाल से इस्तीफे की मांग की है। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर से इस घटना पर रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दिल्ली सरकार के चीफ सेक्रेटरी से जुड़ी घटना दुखद है। लोकसेवकों को बिना डरे इज्जत से काम करने दिया जाना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delhi chief secretary assault case: Medical checkup conduct of Anshu Prakash