DA Image
8 अप्रैल, 2020|7:48|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली अग्निकांड: पत्नी से कहा- आग में फंस गया हूं, बच नहीं पाऊंगा

delhi anaj mandi fire

दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में चार मंजिला इमारत में लगी आग में 43 लोगों की मौत हो गई। ये घटना इतनी भयावह थी कि जिसका अंदाजा किसी को नहीं था। घटना में मारे गए लोगों ने दम घुटने से पहले अपने परिवार को कॉल किया था। मैं आग में फंस गया हूं और अब नहीं बच पाऊंगा, तुम खुद और बच्चे का ध्यान रखना। यह बातें अपनी पत्नी से कहकर साकिर का फोन बंद हो गया। जिसे बाद से उसका कोई पता नहीं है। 

साकिर उस इमारत में काम करता था, जहां रविवार सुबह आग लगी थी। उसने आग में फंसने के दौरान अपनी पत्नी को फोन किया था। जब पत्नी ने उसे आग लगी इमारत से बाहर आने के लिए बोला तो उसने कहा कि हर कोई बचने के लिए इधर-उधर भाग रहा है, लेकिन कारखाना में धुआं इतनी अधिक है कि बचने को कोई रास्ता नहीं दिख रहा है। अब  साकिर के परिजन उसे एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल ढूंढ़ रहे हैं। 

बीवी से हुई बात ने जान बचाई 
घटनाकांड में बचने वाले मो. दुलारे ने बताया कि वह तीन माह ही यहां काम के लिए आए थे। शनिवार रात अपने भाइयों के साथ वह इमारत में ही मौजूद थे। रात ज्यादा होने के बाद सभी भाई उसे इमारत में ही रुकने के लिए बोलने लगे। कुछ देर बाद ही उसकी पत्नी का फोन आ गया। फोन आने के बाद पत्नी ने घर आने के लिए बोला, जिसके बाद वह वहां से निकलकर अपने घर बुराड़ी चला गया। अगर वह बुराड़ी नहीं जाता तो वह भी हादसे में किसी अनहोनी का शिकार हो सकता था। 

 

Delhi Factory Fire : 'पिता जी हमें मत ढूंढना, हम नहीं बच पाएंगे'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delhi Anaj Mandi fire Man told wife I am trapped in the fire I will not be able to escape