DA Image
13 अक्तूबर, 2020|6:28|IST

अगली स्टोरी

बॉर्डर पर तनाव के बीच भारत-चीन के मुद्दे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज संसद में दे सकते हैं बयान

defence minister rajnath singh  file pic

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास भारत और चीनी सैनिकों के बीच जारी गतिरोध को लेकर आज संसद में बयान दे सकते हैं और सरकार का पक्ष रखेंगे। विपक्ष द्वारा इस मुद्दे पर चर्चा कराए जाने की मांग के बीच यह बयान काफी महत्व रखता है। रक्षा मंत्रा संसद को यह बताएंगे कि बॉर्डर पर यह स्थिति कैसे बनी और इससे निपटने के लिए भारत ने अभी तक क्या-क्या प्रयास किए हैं।

राजनाथ की हाल में मास्को में चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंगहे के साथ मुलाकात हुई थी। कुछ दिन पहले विदेश मंत्री जयशंकर की भी चीन के उनके समकक्ष वांग यी के साथ मुलाकात हुई थी।  इस बीच, कैबिनेट और मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की मंगलवार दोपहर वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बैठक हो सकती है। सरकार के सूत्रों ने यह जानकारी दी है।

सोमवार से शुरू हुए संसद के मानसून सत्र में विपक्ष भारत-चीन मुद्दे, कोविड की स्थिति, आर्थिक शिथिलता और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरने का कोई मौका छोड़ने के पक्ष में नहीं है।

बत दें कि पूर्वी लद्दाख में कई महीनों से चालबाजी दिखाने और विभिन्न मुद्दों पर दुनियाभर के अहम देशों के निशाने पर रहने वाले चीन को एक और झटका लगा है। जर्मनी ने कानून के शासन को बढ़ावा देने के लिए हिंद-प्रशांत क्षेत्र में लोकतांत्रिक देशों के साथ मजबूत भागीदारी बनाए रखने पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया है। 

निक्केई एशियन रिव्यू की रिपोर्ट के अनुसार, मानवाधिकारों पर चीन के ट्रैक रिकॉर्ड और एशियाई देशों पर उसकी आर्थिक निर्भरता पर यूरोप के चिंता व्यक्त किए जाने के बाद ही बर्लिन की हिंद-प्रशांत रणनीति सामने आई है।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Defence Minister Rajnath Singh to make a statement on the Developments on our borders in Ladakh in Lok Sabha today