DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देश'छपाक' में एसिड अटैक करने वाले विलेन का नाम राजेश नहीं है, क्या है उस कैरेक्टर का नाम जानिए

'छपाक' में एसिड अटैक करने वाले विलेन का नाम राजेश नहीं है, क्या है उस कैरेक्टर का नाम जानिए

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीAshutosh
Wed, 08 Jan 2020 07:47 PM
'छपाक' में एसिड अटैक करने वाले विलेन का नाम राजेश नहीं है, क्या है उस कैरेक्टर का नाम जानिए

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) जाकर ट्रेल्स के निशाने पर आईं बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' को सोशल मीडिया पर बॉयकॉट का सामना करना पड़ रहा है। उनके जेएनयू जाने के अगले दिन सोशल मीडिया पर यह दावा किया जाने लगा कि लक्ष्मी अग्रवाल, जिनके जीवन पर आधारित यह फिल्म है, उनके ऊपर एसिड अटैक नदीम खान ने किया था जबकि फिल्म में इस कैरेक्टर का नाम बदलकर राजेश कर दिया गया है। इसके बाद ट्विटर पर नदीम खान और राजेश ट्विटर पर टॉप ट्रेंड में आ गया। माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर शाम छह बजे तक नदीम खान पर 78 हजार और राजेश पर 73 हजार ट्वीट हो चुके थे।

वर्ष 2005 में लक्ष्मी अग्रवाल पर दिल्ली के खान मार्केट में नदीम खान और तीन अन्य ने एसिड अटैक किया था। 'छपाक' इसी घटना पर आधारित है। फिल्म में लक्ष्मी वाला कैरेक्टर दीपिका पादुकोण खुद कर ही है और उनके कैरेक्टर का नाम मालती है। लक्ष्मी पर एसिड अटैक करने वाले का नाम फिल्म में बाबू उर्फ बशीर खान है। 'छपाक' में राजेश शर्मा, मालती यानी लक्ष्मी के बॉयफ्रेड का नाम है।

यह भी पढ़ें- 'छपाक' को लेकर सोशल मीडिया पर नया विवाद, यूजर्स पूछ रहे हैं एसिड फेंकने वाले का नाम नदीम से बदलकर राजेश क्यों किया?

ऐसा नहीं है कि दीपिका पादुकोण का सिर्फ विरोध ही हो रहा है, फिल्म बिरादरी समेत अन्य लोगों से काफी प्रशंसा भी मिल रही है। सीएए के विरोध में मुखर आवाज उठाने वाले डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने भी दीपिका का सपोर्ट करते हुए लोगों से उनकी फिल्म का पहला शो देखने की अपील की। कश्यप ने कहा, 'यह न भूलें कि दीपिका इस फिल्म की प्रोड्यूसर भी हैं। इसलिए काफी कुछ दांव पर है।' डायरेक्टर विक्रमादित्य मोटवानी ने दीपिका को 'वास्तविक हीरो' करार दिया। जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने फेसबुक पर दीपिका से मुलाकात की तस्वीर लगाते हुए कहा, 'हर अन्याय के लिए आवाज उठाएं! दीपिका, आप पर गर्व है, ध्यान रखें। जेएनयू वीसी इस्तीफा दें।'

इससे पहले दीपिका को 'पद्मावत' फिल्म के चलते जान से मारने की धमकियों का सामना करना पड़ा था। शबाना आजमी ने बुधवार को ट्वीट किया, 'जब 'पद्मावत को लेकर उन पर हमला हुआ तो बहुत कम लोग ही उनके समर्थन में आए। वह जानती हैं कि निशाना बनना कैसा लगता है। उन्होंने जेएनयू के विद्यार्थियों का समर्थन करके मिसाल कायम की है। दीपिका पादुकोण को और शक्ति मिले।' जेएनयू में हिंसा को लेकर सबसे पहले आवाज उठाने वाले कलाकारों में शामिल स्वरा भास्कर ने कहा, 'बॉलीवुड जेएनयू के रंग में रंग गया।'

यह भी पढ़ें- जानें, कौन हैं लक्ष्मी अग्रवाल जिनपर बनी है दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक'

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें