DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाविजेता मोदी की राह साइबर विशेषज्ञों ने की आसान

bjp victory plan

लोकसभा चुनाव में मोदी लहर पर सवार भाजपा की ऐतिहासिक जीत के पीछे साइबर विशेषज्ञों की टीम का बड़ा योगदान है। इस टीम ने उपलब्ध डाटा के आधार पर व्यक्तिगत मतदाता तक पहुंचने के लिए सूझबूझ के साथ एक सटीक अभियान चलाया। अभियान का मुख्य उद्देश्य उज्ज्वला (मुफ्त गैस कनेक्शन के लिए), स्वच्छ भारत (शौचालय निर्माण के लिए) समेत अन्य केंद्रीय योजनाओं के लाभार्थियों तक पहुंचना था। 

 

विशेषज्ञों की इस टीम ने लोगों तक पहुंचने के लिए 160 से ज्यादा कंट्रोल रूम के जिरये अपना दायरा बढ़ाया। भाजपा ने दो कंसल्टिंग कंपनियों-जारविस टेक्नोलॉजी एंड स्ट्रैटजी कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड और एसोसिएशन ऑफ बिलियन माइंड्स (एबीएम) का सहारा लिया। इन दोनों कंपनियों के 400 से अधिक सूचना तकनीकी क्षेत्र के पेशेवरों ने भाजपा के अभियान को धार देने में मदद की। जारविस के एक अधिकारी ने कहा, ‘स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं ने खास नंबर डायल करने वाले लोगों को फोन करके उनके बारे में प्रारंभिक जानकारी जुटाई और अपवाइंटमेंट फिक्स करके उनसे मुलाकात की ताकि मोदी सरकार की नीतियों से उन्हें अवगत कराया जा सके। पिछले साल जुलाई से 161 कालसेंटर्स में 15 हजार कॉलर्स काम कर रहे थे। पिछले आठ महीने के दौरान 15 लाख फोन किए गए।’ कंपनियों को स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं के लोकेशन और क्षेत्र की जानकारी रहती थी इसिलए वह उन्हें नजदीकी लाभार्थी के पास आसानी से भेज देती थीं।  


  
दिया जलाकर दिल जीता : 
इस साल फरवरी में भाजपा ने ‘कमल ज्योति अभियान’ की शुरुआत की थी। इसके तहत पार्टी के कार्यकर्ताओं को केंद्र की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाने वाले वोटरों के घर दिया जलाने के लिए भेजा गया। संदेश स्पष्ट था- आपके घर में रोशनी मोदी के कारण है।  

कानून की काट ढूंढा : 
कानून पार्टी के कार्यकर्ता लाभार्थियों से तब तक फोन के जिरए सीधे संपर्क नहीं कर सकते, जब तक कि वे इसकी मंजूरी नहीं दे दें। इसिलए पहले टेलीकॉम एजेंसियों से डाटा खरीदा फिर सीधे मतदाताओं को एसएमएस करके उन्हें मिस कॉल करने को कहा ताकि उनसे सीधा संपर्क स्थापित किया जा सके। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:cyber warriors made easy the grand victory for PM narendra modi know how