DA Image
23 फरवरी, 2020|7:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CRPF प्रमुख माहेश्वरी बोले, पुलवामा हमले के बाद बदल दी रणनीति

सीआरपीएफ के महानिदेशक एपी माहेश्वरी ने मंगलवार को कहा कि करीब एक साल पहले पुलवामा आतंकी हमले के बाद बल ने अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए सुरक्षा अभ्यासों को बेहतर किया है। आतंकवाद रोधी अभियानों की बहुआयामी प्रकृति के कारण कोई भी गारंटी नहीं दे सकता कि भविष्य में ऐसी घटनाएं नहीं होंगी।  

सीआरपीएफ प्रमुख ने यहां संवाददाताओं से कहा कि उनका बल यह आश्वस्त कर सकता है कि आतंकी तत्वों के लिए उसके साथ भिड़ना आसान नहीं होगा। बल ने कश्मीर घाटी में आतंक रोधी अभियानों में 70,000 से ज्यादा जवानों को तैनात कर रखा है। 

सीआरपीएफ ने अपने सुरक्षा अभ्यासों को बेहतर किया है, प्रशिक्षण के लिए अपनी क्षमता को बढ़ाया है। साजो-सामान, रणनीति, आवाजाही और स्थानांतरण के लिहाज से भी बेहतर इंतजाम किए गए हैं।

माहेश्वरी ने कहा, हमारा मानना है कि हम नुकसान से सबक ले सकते हैं और ये हमें सफलता की ओर ले जाने वाले होने चाहिए। जो भी सफलताएं वहां मिली हैं वो नाकामी के बाद आई है। 

तीन लाख कर्मियों का ऑडिट 

जम्मू-कश्मीर के एक पुलिस अधिकारी के हाल ही में आतंकियों के साथ पकड़े जाने के मद्देनजर सीआरपीएफ ने बल में किसी संभावित विध्वंसकारी तत्व का पता लगाने के लिए तीन लाख से अधिक जवानों का ऑडिट कराया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CRPF chief AP Maheshwari said strategy changed after Pulwama attack