DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  हैक हो गया CoWIN, खतरे में है 15 करोड़ भारतीयों का डेटा? सरकार ने दी सफाई

देशहैक हो गया CoWIN, खतरे में है 15 करोड़ भारतीयों का डेटा? सरकार ने दी सफाई

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nishant Nandan
Fri, 11 Jun 2021 12:49 AM
हैक हो गया CoWIN, खतरे में है 15 करोड़ भारतीयों का डेटा? सरकार ने दी सफाई

अभी हाल ही में कुछ ऐसी रिपोर्ट्स सामने आई थीं जिनमें कहा गया था कि भारत के वैक्सीन पंजीकरण पोर्टल 'CoWIN' को हैकरों ने हैक कर लिया है। अब ऐसी रिपोर्ट्स पर केंद्र सरकार की तरफ से सफाई भी आ गई है। गुरुवार को सरकार ने ऐसी रिपोर्ट्स को सिरे से खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि 'CoWIN' को हैक कर लिया गया है और 15 करोड़ भारतीयों का डेटा खतरे में है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कुछ ऐसी अज्ञात मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि 'CoWIN' प्लेटफॉर्म हैक हो चुका है। प्रथम दृष्टया ऐसी रिपोर्ट्स फर्जी मालूम पड़ती है। पोर्टल पर सभी वैक्सीनेशन डेटा पूरी तरह से महफूज है।' हालांकि, मंत्रालय और  Empowered Group on Vaccine Administration (EGVAC) इस मामले की जांच कम्प्यूटर इमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम से जरूर करवा रही है।

EGVAC के अध्यक्ष डॉक्टर आर एस शर्मा ने कहा कि 'सोशल मीडिया पर  'CoWIN' के हैक होने से संबंधित खबरों को देखने के बाद हमारा ध्यान उस पर गया है। इस मामले में हम भरोसा दिलाना चाहते हैं कि 'CoWIN' पर सभी डेटा एक सुरक्षित डिजीटल माहौल में मौजूद है। इस माहौल से बाहर किसी से भी किसी भी तरह के डेटा को शेयर नहीं किया गया है। 

आपको बता दें कि डार्क लीक मार्केट नामक एक हैकर समूह ने एक ट्वीट के माध्यम से कुछ समय पहले दावा किया था कि उनके पास लगभग 15 करोड़ भारतीयों का डेटाबेस है, जिन्होंने कोविन पोर्टल पर खुद को पंजीकृत किया है और वह इसका 800 डॉलर में पुनर्विक्रय कर रहे हैं, क्योंकि उन्होंने मूल रूप से डेटा लीक नहीं किया है। हालांकि, कुछ रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि डेटा लीक का दावा करने वाली यह हैकर समूह भी फर्जी है।

संबंधित खबरें