ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशकोरोना काल में 82.4 फीसदी बुजुर्ग स्वास्थ्य चिंता तो 70 प्रतिशत खराब सपने आने से हैं पीड़ित, अध्ययन में दावा

कोरोना काल में 82.4 फीसदी बुजुर्ग स्वास्थ्य चिंता तो 70 प्रतिशत खराब सपने आने से हैं पीड़ित, अध्ययन में दावा

कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण करीब 82.4 फीसदी बुजुर्ग स्वास्थ्य चिंताओं से जूझ रहे हैं। एक नए अध्ययन में यह दावा किया गया है। पिछले एक महीने में पांच हजार से अधिक बुजुर्गों पर यह अध्ययन किया गया...

कोरोना काल में 82.4 फीसदी बुजुर्ग स्वास्थ्य चिंता तो 70 प्रतिशत खराब सपने आने से हैं पीड़ित, अध्ययन में दावा
एजेंसी,नई दिल्लीThu, 13 May 2021 10:26 PM
ऐप पर पढ़ें

कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण करीब 82.4 फीसदी बुजुर्ग स्वास्थ्य चिंताओं से जूझ रहे हैं। एक नए अध्ययन में यह दावा किया गया है। पिछले एक महीने में पांच हजार से अधिक बुजुर्गों पर यह अध्ययन किया गया है। गैर सरकारी संगठन 'एजवेल फाउंडेशन की तरफ से कराए गए अध्ययन में यह भी पाया गया कि करीब 70.2 फीसदी बुजुर्ग अनिद्रा, खराब सपने आने से पीड़ित हैं।

अध्ययन में कहा गया, यह पता चला कि बुजुर्गों में स्वास्थ्य चिंताएं, अनिद्रा, डर, हताशा, चिड़चिड़ापन, तनाव, बुरे सपने आना, खालीपन की भावना, वायरस से पीड़ित होने की आशंका, भूख की कमी और अनिश्चित भविष्य से जुड़ी चिंता जैसी समस्याएं आ रही हैं।

गैर सरकारी संगठन की तरफ से जारी बयान में कहा गया, आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला कि करीब 82.4 फीसदी बुजुर्ग पिछले एक महीने से कोविड-19 के बढ़ते मामलों और आसपास हो रही मौत की घटनाओं के कारण स्वास्थ्य चिंताओं का सामना कर रहे हैं। पिछले महीने यह भी पाया गया कि करीब 63 फीसदी बुजुर्गों में अकेलेपन या सामाजिक अलगाव के कारण निराशा के लक्षण हैं और 63.3 फीसदी बुजुर्गों ने तनाव की शिकायत की।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़े के मुताबिक भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,62,727 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमितों की कुल संख्या 2,37,03,665 हो गई। वहीं 4120 लोगों की मौत होने के कारण मृतकों की संख्या 2,58,317 हो गई है।