DA Image
14 फरवरी, 2021|2:05|IST

अगली स्टोरी

17 फीसदी लोगों में दिखे कोवैक्सीन के हल्के साइड इफैक्ट्स, कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी भी तैयार: स्टडी

covaxin vaccine

कोवैक्सीन के पहले चरण के परीक्षणों को लेकर लांसेट इंफेक्सियस डिजीज में शोधपत्र प्रकाशित हुआ है। इसमें दावा किया गया है कि परीक्षण के दौरान करीब 17 फीसदी लोगों में टीके के हल्के दुष्प्रभाव देखे गए। हालांकि, ये 24 घंटे में ठीक हो गए। पहले चरण में पाया गया कि टीके से लोगों में कोरोना के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता भी पैदा हो रही है।

रिपोर्ट के अनुसार, कोवैक्सीन के पहले चरण के परीक्षण देश भर के 11 अस्पतालों में 375 लोगों पर किए गए। इसमें 18-55 साल के लोग शामिल थे। परीक्षण के दौरान कुल 62 लोगों में विभिन्न प्रकार के दुष्प्रभाव दर्ज किए गए, जिनमें से ज्यादातर मामूली थे। शोधपत्र के अनुसार, सबसे ज्यादा 17 लोगों (5 फीसदी) में सुई लगाने की जगह पर दर्द की शिकायत पाई गई। 13 लोगों (3 फीसदी) ने सिरदर्द की शिकायत की। जबकि 11 लोगों (3 फीसदी) ने थकान की शिकायत की। इसके अलावा नौ लोगों ने बुखार और सात ने जी मिचलाने और उल्टी की शिकायत की। जबकि पांच अन्य लोगों में अन्य लक्षण दिखे। रिपोर्ट के अनुसार सिर्फ एक व्यक्ति में गंभीर दुष्प्रभाव निमोनिया के लक्षण पाए गए।

रिपोर्ट के अनुसार, जिन 62 लोगों में दुष्प्रभाव देखे गए उनमें से 43 (69 फीसदी) में ये मामूली थे, जबकि 19 (31 फीसदी) में मध्यम दर्जे के थे, लेकिन इनका उपचार 24 घंटों के भीतर कर दिया गया। प्रत्येक सात दिन में टीका लेने वाले स्वयंसेवकों के स्वास्थ्य की जांच परीक्षण के दौरान की गई। रिपोर्ट के अनुसार, टीका लेने वालों में सीडी-4 एवं सीटी-8 टी सेल्स का रिस्पांस भी अच्छा देखा गया।

बता दें कि पहले चरण के परीक्षण मुख्य फोकस इस बात पर रहता है कि जो दवा या टीका दिया जा रहा है, उसके दुष्प्रभाव क्या-क्या हैं। इस परीक्षण में कोवैक्सीन खरी उतरी है। शोधपत्र में दावा किया गया है कि जो दुष्प्रभाव कोवैक्सीन के सामने आए हैं, वह हाल में बने अन्य कोरोना टीकों की तुलना में कम है। इस अध्ययन में आईसीएमार के महानिदेशक बलराम भार्गव, भारत बायोटेक के डॉ. कृष्णा इला समेत उन अस्पतालों के वैज्ञानिक शामिल हैं, जहां परीक्षण किए जा रहे हैं।

13 हजार लोगों को दूसरी डोज दी गई
इस बीच भारत बायोटेक ने कहा कि कोवैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण के दौरान 13 हजार लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है। कुल 26 हजार लोगों पर तीसरे चरण के परीक्षण किए जा रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covaxin Side Effects in 17 Percent People Reveal in Study