ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकोरोना के नए स्ट्रैन पर कोवैक्सीन कितना असरदार? आईसीएमआर कर रहा स्टडी

कोरोना के नए स्ट्रैन पर कोवैक्सीन कितना असरदार? आईसीएमआर कर रहा स्टडी

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के वैज्ञानिक कोवैक्सीन का परीक्षण कोरोना के नए प्रकार बी.1.1.7 पर अध्ययन कर रहे हैं। ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह टीका तेजी से फैलने वाले इस नए प्रकार पर...

कोरोना के नए स्ट्रैन पर कोवैक्सीन कितना असरदार? आईसीएमआर कर रहा स्टडी
Rakesh Kumarविशेष संवाददाता,नई दिल्लीWed, 13 Jan 2021 11:59 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के वैज्ञानिक कोवैक्सीन का परीक्षण कोरोना के नए प्रकार बी.1.1.7 पर अध्ययन कर रहे हैं। ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह टीका तेजी से फैलने वाले इस नए प्रकार पर असरदार है या नहीं। कोरोना के तैयार हो चुके टीकों को लेकर हालांकि वैज्ञानिकों की तरफ से उम्मीद जाहिर की गई है कि नए प्रकार पर भी ये प्रभावी होंगे लेकिन इन दावों की वैज्ञानिक पुष्टि अभी नहीं हुई है।

नेचर जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार आईसीएमआर के वैज्ञानिकों ने इस पर कार्य शुरू कर दिया है। इस रिपोर्ट में आईसीएमआर की वैज्ञानिक निवेदिता गुप्ता के हवाले से कहा गया है कि जिन लोगों को कोवैक्सीन दी गई है, उनके एंटीबाडीज की जांच की जा रही है और यह देखा जा रहा है कि वह नए प्रकार का मुकाबला करने में समक्ष हैं या नहीं। इसके नतीजे अभी पता नहीं चले हैं।

बता दें कि कोवैक्सीन को आईसीएमआर के नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी पुणे के वैज्ञानिकों ने तैयार किया है तथा भारत बायोटेक ने बाजार में उतारा है। टीके के दूसरे चरण के परीक्षण पूरे हुए हैं जबकि तीसरे चरण के परीक्षण जारी हैं। तीन जनवरी को भारत सरकार ने इस टीके को क्लिनिकल ट्रायल मोड में आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी थी। टीके की 55 लाख खुराक सरकार ने अभी ली हैं।

16 जनवरी से शुरू होगा टीकाकरण अभियान
दूसरी ओर, देश में 16 जनवरी से कोविड-19 टीकारकरण अभियान शुरू होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को यह घोषणा की। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री ने कोविड-19 प्रबंधन से जुड़े विभिन्न पहलुओं की विस्तृत समीक्षा की। बयान में कहा गया, ''आगामी लोहड़ी, मकर संक्रांति, पोंगल और माघ बिहू जैसे त्योहारों के मद्देनजर विस्तृत समीक्षा के बाद फैसला लिया गया कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 से आरंभ किया जाएगा।"

कोरोना वॉरियर्स को दी जाएगी प्राथमिकता
कोविड-19 टीकाकरण अभियान में करीब तीन करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों एवं अग्रिम मोर्चे पर कार्यरत कर्मियों को प्राथमिकता दी जाएगी। बयान में कहा गया कि इसके बाद 50 वर्ष से अधिक आयु के करीब 27 करोड़ व्यक्तियों और अन्य बीमारियों से ग्रसित 50 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाएगा। एक डिजिटल टीका आपूर्ति प्रबंधन प्रणाली टीके के भंडार, भंडारण तापमान, लाभार्थियों के संबंध में जानकारी देगा तथा डिजिटल प्लेटफार्म स्वत: सत्र आवंटित करने, सत्यापन और टीकाकरण के बाद व्यक्तियों को प्रमाणपत्र प्रदान करने में मदद करेगा। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री को देश भर में टीकाकरण अभियान को लेकर तीन चरणों में किए गए पूर्वाभ्यास के बारे में भी अवगत कराया गया।

epaper