DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  महंगी वैक्सीन के बावजूद मुफ्त कोरोना टीका देने की पहल कर रहे देश, जानिए भारत की रणनीति
देश

महंगी वैक्सीन के बावजूद मुफ्त कोरोना टीका देने की पहल कर रहे देश, जानिए भारत की रणनीति

हिन्दुस्तान ब्यूरो,नई दिल्लीPublished By: Ashutosh Ray
Sat, 12 Dec 2020 01:25 AM
महंगी वैक्सीन के बावजूद मुफ्त कोरोना टीका देने की पहल कर रहे देश, जानिए भारत की रणनीति

जनता को निशुल्क कोरोना वैक्सीन देने का दम सिर्फ तीन देशों ने दिखाया है। दुनिया के धनी देशों के बीच सबसे महंगी कोरोना वैक्सीन की सबसे ज्यादा डोज खरीदने की होड़ लगी है। फाइजर, मॉडर्ना, ऑक्सफोर्ड, स्पूतनिक और चीनी कंपनी के बनाए कोविड-19 के टीके की बहुत से देशों ने अग्रिम खरीदारी कर ली है। पर वे इस टीके का लाभ अपनी जनता को निशुल्क देने से हिचकिचा रहे हैं।

स्पेन ने टीकाकरण कर-मुक्त किया
हाल में यूरोपीय देश स्पेन ने बीच का रास्ता निकालते हुए कोरोना वैक्सीन व जांचों पर लगने वाले अतिरिक्त कर को दो साल के लिए हटा  दिया। स्पेन की सरकार ने घोषणा की है कि 2022 तक कोरोना की जांच व टीका पर कोई वेल्यू एडिड टैक्स (वैट) नहीं लगेगा। यहां जनवरी में टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

अब तक केवल तीन देशों ने पहल की
जापान: 12.6 करोड़ आबादी को मुफ्त कोरोना टीका देने के लिए यहां की सरकार संसद में प्रस्ताव लाई। बीते दो दिसंबर को उच्च सदन में स्वीकृति के बाद यह कानून बन गया है।

फ्रांस: यहां के प्रधानमंत्री ज्यां कास्टेक्स ने तीन दिसंबर को कहा कि कुछ सप्ताह के भीतर देश में कोविड-19 का टीकाकरण शुरू हो जाएगा जो सबके लिए मुफ्त होगा।

नॉर्वे: यहां की सरकार ने अक्तूबर में ही घोषणा कर दी थी कि देश में जब कोरोना टीका उपलब्ध होगा, इसे नॉर्वे के निवासियों को नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा।

अमेरिका और भारत में निशुल्क टीके का दावा
अमेरिका: नवनिवार्चित राष्ट्रपति जो बाइडन ने अक्तूबर में चुनावी अभियान के दौरान सभी अमेरिकियों को निशुल्क वैक्सीन उपलब्ध करवाने का दावा किया था। उन्होंने कहा था कि उनके राष्ट्रपति बनने के बाद यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सभी को सुरक्षित व निशुल्क टीका मिले, भले 
वे बीमाधारक हों या नहीं।

भारत: 25 अक्तूबर को केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने कहा था कि कोरोना का टीका सभी नागरिकों को मुफ्त दिया जाएगा। दूसरी ओर, बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने मुफ्त कोरोना वैक्सीन सभी को देने का वादा किया था। वहीं, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, असम, पुड़ुचेरी की सरकारों ने पहले ही घोषणा कर दी है कि राज्य में टीका मुफ्त होगा।

बहुत महंगा टीका होने से हिचकिचाहट
अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों ने अब तक मुफ्त टीका देने की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। इस बारे में विशेषज्ञों का कहना है कि इन देशों ने आबादी से चार-पांच गुना ज्यादा वैक्सीन पहले ही खरीद ली है। इतनी बड़ी मात्रा में अग्रिम खरीदारी करने के कारण ये देश अब मुफ्त में वैक्सीन देकर अपना आर्थिक नुकसान नहीं चाहते।

टीका - औसतन कीमत
फाइजर   : 19.50 डॉलर का टीका
मॉडर्ना   :  32 से 37 डॉलर प्रति खुराक
स्पूतनिक : 10 डॉलर प्रति डोज

संबंधित खबरें