ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशएक साथ दो कोरोना टीकों को मंजूरी देकर भारत ने बनाया यह खास रिकॉर्ड, जानें और कहां-कहां मिली दो वैक्सीन को मंजूरी

एक साथ दो कोरोना टीकों को मंजूरी देकर भारत ने बनाया यह खास रिकॉर्ड, जानें और कहां-कहां मिली दो वैक्सीन को मंजूरी

भारत एक साथ दो कंपनियों के कोरोना वायरस की वैक्सीन को मंजूरी देने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। भारत ने ऑक्सफोर्ड और सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा  तैयार टीका कोविशील्ड और पूरी तरह से देश में...

एक साथ दो कोरोना टीकों को मंजूरी देकर भारत ने बनाया यह खास रिकॉर्ड, जानें और कहां-कहां मिली दो वैक्सीन को मंजूरी
covishield
लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 04 Jan 2021 08:22 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत एक साथ दो कंपनियों के कोरोना वायरस की वैक्सीन को मंजूरी देने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। भारत ने ऑक्सफोर्ड और सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा 
तैयार टीका कोविशील्ड और पूरी तरह से देश में विकसित भारत बायोटेक के टीके कोवैक्सीन को सीमित इस्तेमाल की मंजूरी दी है। दुनिया के 11 से अधिक देशों में कोविड-19 का टीका दिया जा रहा है, जिनमें से ऐसे देशों की संख्या कम है, जहां दो कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है। हालांकि, भारत समेत तमाम देशों में अन्य दूसरी कंपनियों के टीकों का परीक्षण चल रहा है। निकट भविष्य में इन कंपनियों के टीकों की मंजूरी मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

अमेरिका: यहां 14 दिसंबर को फाइजर-बायोएनटेक के कोरोना टीके से टीकाकरण शुरू हुआ, फिर मॉडर्ना के टीके को भी आपातकालीन मंजूरी मिल गई। पहले 
चरण में स्वास्थ्यकर्मी और फिर 75 साल से अधिक उम्र वालों को टीका लगाया जा रहा है।

बहरीन: यह अरब जगत में टीकाकरण अभियान शुरू करने वाला पहला देश है। यहां टीकाकरण के लिए चीन की सिनोफार्म और अमेरिका की फाइजर-बायोएनटेक कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी गई। जिसके बाद यहां 23 दिसंबर से टीकाकरण शुरू हो गया है।

ब्रिटेन: यह टीकाकरण शुरू करने वाला पहला पश्चिमी देश बना, जहां फाइजर- बायोएनटेक से टीकाकरण जारी है। जबकि हाल में 30 दिसंबर को इस देश ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और एस्ट्राजेनेका द्वारा निर्मित कोरोना वैक्सीन के उपयोग के लिए मंजूरी दी है। इससे सोमवार को देश में टीकाकरण शुरू होगा।

अर्जेंटीना: यहां दिसंबर के अंतिम सप्ताह में रूस की बनायी स्पूतनिक-वी कोरोना वैक्सीन से टीकाकरण शुरू कर दिया गया था। इसके बाद 31 दिसंबर को यहां की सरकार ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को मंजूरी दे दी।

कनाडा: यहां फाइजर-बायोएनटेक के टीके से 14 दिसंबर से टीकाकरण जारी है। कनाडाई सरकार ने 23 दिसंबर को मॉडर्ना के बनाए कोरोना टीके को भी टीकाकरण के लिए मंजूरी दी। इस टीके की 1.68 लाख डोज देश को मिल चुकी हैं।

दो देशों में दूसरे टीके को स्वीकृति जल्द

मोरक्को : यहां चीन की सिनोफार्म को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिल चुकी है। सिनोफार्म के साथ ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोरोना वैक्सीन की कुल 6.5 करोड़ डोज यहां पहुंच चुकी हैं। जल्द टीकाकरण शुरू होगा।

मिस्त्र : सरकार के रविवार को चीन कंपनी की सिनोफार्म कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जनवरी के मध्य में टीकाकरण शुरू हो जाएगा। जिसमें ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोरोना वैक्सीन का भी उपयोग किया जाएगा। जिसकी डोज जल्द ही देश को मिल जाएंगी।