DA Image
3 जून, 2020|5:07|IST

अगली स्टोरी

कोरोना पर पीएम से मीटिंग के बाद अरुणाचल के सीएम बोले, मानव जाति के दुश्मन को हराने के लिए एकजुट होकर लड़ना होगा

pm modi

1 / 2PM Modi

pm narendra modi holds meeting with chief ministers via video conferencing on covid19

2 / 2PM Narendra Modi holds meeting with Chief Ministers via video conferencing on COVID19

PreviousNext

देश मे लगातार पैर पसार रहे कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ रणनीति बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की। इस बैठक के बाद अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने ट्वीट करके बताया कि बैठक में पीएम मोदी ने कहा है कि अभी युद्ध शुरू हुआ है। 24 घंटे में हमें सतर्क रहना चाहिए और एकजुट होकर हमें कोविड 19 के प्रकोप को हराने के लिए लड़ना होगा। एक और ट्वीट में बतााया पीएम ने कहा कि यह एक ऐसी लड़ाई है जिसे हम में से प्रत्येक को लड़नी चाहिए। यह एक युद्ध है जिसे केवल स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, पुलिसकर्मियों या सरकार पर नहीं छोड़ा जा सकता है। यह समय अलग-अलग विचारधाराओं के लोगों को मानव जाति के दुश्मन को हराने के लिए एकजुट होकर लड़ना होगा। 

अरुणाचल के सीएम मे एक ट्वीट कर कहा था कि 15 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त होगा, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप सड़कों पर आवाजाही के लिए स्वतंत्र हैं। कोविड 19 से लड़ने का एकमात्र तरीका लॉकडाउन और सामाजिक दूरी है। हालांकि यह ट्वीट बाद में उन्होंने डिलीट कर दिया था और सफाई ट्वीट किया है कि स्टाफ ने हिन्दी समझने में दिक्कत के कारण ऐसा कर दिया है।

उन्होंने बताया कि बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि 21 दिनों का लॉकडाउन बेकार नहीं जाना चाहिए। लॉकडाउन के बाद भी, कोरोना रोकथाम सुरक्षा उपायों का पालन करें जैसे कि मास्क पहनना, स्वच्छता, सामाजिक दूसरी बनाए रखना आदि। जिम्मेदार होना ही हमें बचाएगा।

देश में कोरोना वायरस की स्थिति पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में पीएम मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद दिखे। बताया जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना संकट के उपजे मौजूदा स्थिति, विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए चलाए जा रहे राहत कार्यों के साथ-साथ तबलीगी जमात के लोगों के विभिन्न राज्यों में जाने से उत्पन्न खतरे पर भी चर्चा हुई है। 

लॉकडाउन के बाद देश के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की यह पहली बैठक है। इससे पहले 22 मार्च को लगाए गए जनता कर्फ्यू से दो दिन पहले 20 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की थी। उस समय उन्होंने कोरोना के वैश्विक खतरे के प्रति मुख्यमंत्रियों को आगाह करते हुए पूरे देश को एकजुट होकर इसका सामना करने की जरूरत पर जोर दिया था। 24 मार्च को पूरे देश में किए गए लॉकडाउन के बाद से राज्यों को प्रवासी मजदूरों से लेकर कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ा है।

हालांकि, इस बीच कैबिनेट सचिव और गृह सचिव लगातार राज्यों के मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बातचीत कर हालात की समीक्षा कर रहे हैं। कोरोना के खिलाफ राजनीतिक नेतृत्व की एकजुटता ज्यादा जरूरी है। 

भारत में कोविड​​-19 मामलों की संख्या बुधवार को बढ़कर 1965 तक पहुंच गई, जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 50 हो गई। कोरोना वायरस के मामलों में इजाफे के लिहाज से एक दिन में अब तक की सबसे अधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई है और 437 मामले दर्ज किये गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्रालय के लेटेस्ट आंकड़ों के मुताबिक,  कोविड-19 के 1764 रोगियों का इलाज चल रहा है, जबकि 150 लोग ठीक हो चुके हैं
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus Lockdown India Update PM Narendra Modi holds meeting with Chief Ministers via video conferencing on COVID19 situation Amit Shah also present there