DA Image
27 मार्च, 2020|7:26|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों की मदद को आगे आई केंद्र सरकार, राज्यों को दी ये नसीहत

govt looks at ways to help migrant labourers  to provide food and shelter

1 / 2Govt looks at ways to help migrant labourers, to provide food and shelter

2 / 2amit shah

PreviousNext

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में लागू लॉकडाउन में प्रवासी कामगारों, मजदूरों का पलायन जारी है। कोई पैदल जा रहा है तो कुछ किसी तरह जुगाड़ से अपने घरों की ओर लौट रहे हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के दौरान बड़े पैमाने पर हो रहे इस पलायन को रोकने के लिए राज्य सरकारों को एडवाइजरी जारी की है। गृह मंत्रालय ने राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को परामर्श जारी कर बड़े पैमाने पर प्रवासियों, खेतिहर और औद्योगिक मजदूरों तथा असंगठित क्षेत्र के कामगारों का पलायन रोकने को कहा है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, केंद्र सरकार की ओर से राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों को सलाह दी गई है कि वे इन समूहों को मुफ्त अनाज और अन्य जरूरी चीजों के बारे में जानकारी दें जिससे बड़े पैमाने पर पलायन को रोका जा सके। साथ ही गृह मंत्रालय ने राज्यों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाइ्र में लॉकडाउन के दौरान होटल, हॉस्टल, किराये के आवास चलते रहें और उन्हें जरूरी सामान की आपूर्ति होती रहे।

यह भी पढ़ें- कोरोना पर भी चीन की चालबाजी, अध्यक्ष का रौब दिखा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नहीं करा रहा कोविड-19 संकट पर चर्चा

दरअसल, कोविड-19 महामारी के प्रसार से लड़ने के प्रयास में सरकार द्वारा देश में लॉकडाउन के ऐलान के बाद ज्यादातर उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी अपने घरों की ओर लौट रहे हैं। ये कामगार प्रवासी ऐसे हैं, जो लॉकाडाउन के बाद कामकाज-नौकरी छोड़ चुके हैं या फिर निकाल दिए गए हैं और किराए पर कमरा लेने और खाने-पीनी की चीजों का जुगाड़ करने में भी असमर्थ हैं। ऐसे हजारों लोग हैं जो महानगरों से काम और रोजी-रोटी के अभाव में अपने घरों की ओर लौट रहे हैं। 

यह एडवाइजरी ऐसे वक्त में आई है, जब पश्चिम बंगाल और झारखंज समेत कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इन कामगारों-मजदूरों की सुरक्षा और जरूरतों पर चिंता जाहिर की है। सड़कों पर पैदल चलते मजदूरों की तस्वीरें और खबरें सामने आने के बाद यूपी की योगी सरकार ने भी उन्हें भोजन और मेडिकल सुविधा मुहैया कराने के निर्देश जारी किए हैं। 

यह भी पढ़ें- कोरोना संक्रमण के बीच RJD विधायकों को तेजस्वी यादव की चिट्ठी- सरकार के गाइडलाइन्स को लोगों तक पहुंचाएं

योगी आदित्यनाथ ने 75 जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि यूपी में आने वाले प्रवासी मजदूरों को खाना-पीना मुहैया कराई जाए। वहीं, अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि ऐसे सभी लोगों का उनकी सरकार ख्याल रखेगी। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तो दूसरे राज्यों में काम करने गए बंगालियों के लिए तो 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी भी लिखी थी। 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिख उन्होंने बंगालियों की सुरक्षा की अपील की थी। साथ ही उन्होंने कहा कि जो बंगाली उनके राज्य में फंसे हुए हैं, उन्हें बेसिक शेल्टर और खाना-पानी मुहैया कराएं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus india update MHA issues advisory to States to prevent mass exodus of migrant and labourers industrial workers due to Lockdown