ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशCoronavirus Update: टल गया कोविड-19 का नया खतरा! 1 हफ्ते में 27% गिरावट, इन राज्यों में बढ़ी चिंता

Coronavirus Update: टल गया कोविड-19 का नया खतरा! 1 हफ्ते में 27% गिरावट, इन राज्यों में बढ़ी चिंता

Covid-19 News: एक ओर जहां अधिकांश बड़े राज्यों में कोविड का ग्राफ नीचे आया, तो कुछ राज्यों में मामलों ने चिंता बढ़ाई। ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड में संक्रमण में तेजी से इजाफा देखा गया।

Coronavirus Update: टल गया कोविड-19 का नया खतरा! 1 हफ्ते में 27% गिरावट, इन राज्यों में बढ़ी चिंता
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 01 May 2023 05:56 AM
ऐप पर पढ़ें

कोरोनावायरस संकट का मौजूदा खतरा अब टलता नजर आ रहा है। बीते सप्ताह में घटे संक्रमण के घटते आंकड़ों ने राहत के संकेत दिए हैं। खास बात है कि बीते 13 हफ्तों में पहली बार 7 दिनों के दौरान मामलों में गिरावट दर्ज की गई है। साथ ही पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों को छोड़कर देश के अधिकांश बड़े राज्यों में कोविड-19 के मामलों में कमी देखी गई है।

क्या कहते हैं आंकड़े
23 अप्रैल से 29 अप्रैल के बीच कोरोना के मामलों में 27 प्रतिशत गिरावट दर्ज की गई है। इस दौरान मौत, सक्रिय मामलों और पॉजिटिविटी रेट का ग्राफ भी घटा। इन दिनों में देश में 53 हजार 737 नए मरीज मिले। जबकि, इससे पहले के हफ्ते (16-22 अप्रैल) में भारत में 73 हजार 873 नए मामले सामने आए थे। बीते सात दिनों में इससे पहले के सप्ताह की तुलना मौत के मामले में 160 से घटकर 131 पर आ गए हैं।

किस राज्य में क्या हाल
राजधानी दिल्ली में 16 अप्रैल से 22 अप्रैल के बीच कोविड के 10 हजार से ज्यादा मामले सामने आए थे। जबकि, बीते सप्ताह ये आंकड़े घटकर 5 हजार 893 पर आ गए हैं। केरल में भी 16-22 अप्रैल से तुलना की जाए, तो बीते हफ्ते में मरीज 28 प्रतिशत कम हुए हैं। हरियाणा में यह आंकड़ा 27 फीसदी, महाराष्ट्र में 33 फीसदी, उत्तर प्रदेश में 36 फीसदी और तमिलनाडु में 20 फीसदी है।

यहां बढ़े मामले
एक ओर जहां अधिकांश बड़े राज्यों में कोविड का ग्राफ नीचे आया, तो कुछ राज्यों में मामलों ने चिंता बढ़ाई। ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड में संक्रमण में तेजी से इजाफा देखा गया। कहा जा रहा है कि कोविड के मामलों में हुई मौजूदा बढ़त अब गिरावट की ओर है। शनिवार रात एक्टिव केस घटकर 50 हजार से नीचे पहुंच गए हैं। इसके अलावा पॉजिटिविटी रेट भी घटा है।