DA Image
28 मई, 2020|11:31|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वायरस: चीन में मौजूद भारतीयों को निकालने की तैयारी, आला अधिकारियों की मौजूदगी में बैठक

कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों की सोमवार को कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में समीक्षा की गई। इस दौरान, जरूरत पड़ने पर भारतीय नागरिकों को चीन के वुहान से निकालने के लिए तैयार रहने पर भी सहमति बनी। बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, नागरिक उड्डयन, श्रम मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय और एनडीआरएफ के आला अधिकारी मौजूद थे। 

बैठक में तय हुआ कि वुहान में मौजूद भारतीय नागरिकों की संभावित निकासी के लिए लिए तैयारी पूरी जाए। जरूरत पड़ने पर इसके लिए विदेश मंत्रालय चीनी अधिकारियों से अनुरोध करेगा। बैठक में बताया गया कि रविवार तक 137 उड़ानों के 29,707 यात्रियों की जांच की गई। 12 यात्रियों के नमूने एनआईवी पुणे जांच के लिए भेजे गए थे, जिनमें कोई भी संक्रमित नहीं मिला। वहीं, नेपाल सीमा से सटे जिलों में निगरानी बढ़ा दी है। पश्चिम बंगाल के पानीटंकी में और उत्तराखंड के झूलाघाट तथा जौलजिबी में नेपाल से सटे क्षेत्रों में स्वास्थ्य टीमें तैनात की गई हैं। 

इससे पहले केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर वुहान में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए विशेष उड़ानों का इंतजाम कराने की अपील की। मुख्यमंत्री ने राज्य से चिकित्सा पेशेवरों की सहायता की भी पेशकश की। वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन दक्षिण-पूर्व एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने क्षेत्र के देशों से नए कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सतर्कता बनाए रखने का आग्रह किया है।  

दिल्ली के दो अस्पतालों में विशेष वार्ड 

दिल्ली में एम्स और आरएमएल अस्पताल में विशेष एकांत वार्ड बनाए हैं और बिस्तर तैयार रखे गए हैं। राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के विशेषज्ञों ने सोमवार को डॉ. राममनोहर लोहिया अस्पताल का दौरा कर तैयारियों की समीक्षा की। 

गोवा में विशेष कार्यबल गठित होगा 

गोवा सरकार ने संभावित मामलों पर नजर रखने के लिए एक विशेष कार्यबल का गठन करने का फैसला किया है।   

मुंबई में चार संदिग्ध भर्ती 

संक्रमण के संदेह में मुंबई में चौथे व्यक्ति को निगरानी में लिया है। पिछले हफ्ते तीन व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 

बेंगलुरु में दो लोग निगरानी में 

कर्नाटक के स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को बताया कि बेंगलुरु में दो लोगों को निगरानी में रखा गया है। तीन दिन पहले एक अन्य व्यक्ति को भर्ती किया था, लेकिन संक्रमण न मिलने पर उसे छुट्टी दे दी गई।  

हैदराबाद में तीन निगरानी में 

हैदराबाद में तीन लोगों को निगरानी में रखा गया है जिन्होंने चीन की यात्रा की थी। हालांकि, उनमें इस वायरस के लक्षण नहीं हैं। तीनों अधिकारियों से संपर्क किया था। 

उपराष्ट्रपति का वैश्विक सहयोग पर जोर  

दुनिया भर में कोरोना वायरस से पैदा भय के बीच सोमवार को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने नए वायरसों का जल्द पता लगाने और महामारी के किसी प्रकोप को रोकने के लिए वैश्विक सहयोग की आवश्यकता पर बल दिया। नायडू हैदराबाद सीएसआईआर-कोशिकीय एवं आणविक जीव विज्ञान केंद्र (सीसीएमबी) के वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus government preps to evacuate indian from china