ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशसंसद के बाद सुप्रीम कोर्ट में कोरोना का कहर, सर्वोच्च अदालत के 4 जज मिले पॉजिटिव

संसद के बाद सुप्रीम कोर्ट में कोरोना का कहर, सर्वोच्च अदालत के 4 जज मिले पॉजिटिव

कोरोना का साया अब देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट के जजों तक भी पहुंच चुका है। सुप्रीम कोर्ट के चार मौजूदा जज कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इससे पहले गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के दो जज...

संसद के बाद सुप्रीम कोर्ट में कोरोना का कहर, सर्वोच्च अदालत के 4 जज मिले पॉजिटिव
Gauravलाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीSun, 09 Jan 2022 09:51 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

कोरोना का साया अब देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट के जजों तक भी पहुंच चुका है। सुप्रीम कोर्ट के चार मौजूदा जज कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इससे पहले गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के दो जज कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इनके अलावा रजिस्ट्री के करीब 150 कर्मचारी भी या तो पॉजिटिव हैं या फिर आइसोलेशन में हैं। इससे पहले संसद के करीब 400 कर्मचारी-सुरक्षाकर्मी भी कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं।

दरअसल, देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट के चार मौजूदा जज कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इंडिया टुडे ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि सबसे पहले गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के दो जज पॉजिटिव पाए गए थे। इसके साथ ही रजिस्ट्री के सभी कर्मचारियों और अधिकारियों का कोरोना टेस्ट कराया गया। अब तक करीब 150 कर्मचारी या तो कोरोना पॉजेटिव पाए गए हैं या फिर क्वारंटीन हैं। इस प्रकार सर्वोच्च न्यायालय में CJI एनवी रमणा सहित 32 जजों की कुल संख्या में से चार जजों के कोरोना पॉजिटिव होने से अब यहां पॉजिटिविटी रेट 12.5% हो गया है।

वहीं कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सात जनवरी से पूरी तरह से वर्चुअल मोड पर सुनवाई करने का फैसला किया था। सुप्रीम कोर्ट ने अपने सभी न्यायाधीशों को अपने आवासीय कार्यालयों से काम करने का फैसला किया है। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक सर्कुलर के माध्यम से कहा था कि 10 जनवरी से केवल बहुत जरूरी मामलों, फ्रेश मैटर, बेल मैटर्स, डिटेंशन और तय तारीख के केस सूचीबद्ध किए जाएंगे।

उधर जानकारी मिली है कि संसद में काम करने वाले कम से कम 400 कर्मचारी और सुरक्षाकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि बीती 6 और 7 जनवरी के दरम्यान संसद में काम करने वाले कर्मचारियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। 

epaper