DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  भारत में कोरोना हो रहा अब पस्त, 24 घंटे में 60 हजार नए केस और 1674 मौतें, रिकवरी रेट से राहत
देश

भारत में कोरोना हो रहा अब पस्त, 24 घंटे में 60 हजार नए केस और 1674 मौतें, रिकवरी रेट से राहत

हिन्दु्स्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Shankar Pandit
Sat, 19 Jun 2021 09:30 AM
Coronavirus 10697 new cases in the state 360 more people died
1 / 3Coronavirus 10697 new cases in the state 360 more people died
Coronavirus Covid19
2 / 3Coronavirus Covid19
718 new cases of coronavirus reported in the state 38 more people died
3 / 3718 new cases of coronavirus reported in the state 38 more people died

कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की जंग रंग लाती दिख रही है। देश में कोरोना महामारी की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या में लगातार गिरावट जारी है। भारत में आज यानी शनिवार को बीते 24 घंटे में महज 60 हजार नए कोरोना केस सामने आए हैं, जो कई महीनों के निचले स्तर पर है। हालांकि, मौत के मामलों में अब भी स्थिरता कामय है। देश में 74 दिनों बाद देश में सबसे कम एक्टिव केस दर्ज किए गए हैं और एक्टिव केस घटकर 7.60 लाख हो गए हैं। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के लेटेस्ट आंकड़ों के मुताबिक, देश में शनिवार को बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के कुल 60753 नए मामले सामने आए, जिससे कोरोना के कुल मामलों की संख्या 29823726 हो गई। वहीं, कोरोना वायरस से बीते 24 घंटे में 1674 लोगों की मौतें हुई हैं।

फिलहाल, देश में अब तक कोरोना वायरस के 28678390 लोग ठीक हो चुके हैं। बीते 24 घंटे में 97743 लोग कोरोना से रिकवर हुए हैं। आंकड़ों की मानें तो बीते 37 दिनों से लगातार कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या रोजाना मिलने वाले नए मरीजों से अधिक है। फिलहाल, सबसे अच्छी बात है कि देश में रिकवरी रेट में बढ़ोतरी जारी है और कोरोना से यह रिकवरी रेट बढ़कर 96.16% हो गया है। 

वहीं कोरोना जांच की बात करें तो देश में शुक्रवार को 19.02 लाख कोरोना जांच हुई। इस तरह से अब तक 38.92 करोड़ सैम्पल टेस्ट हो चुके हैं। इसकी जानकारी आईसीएमआर ने दी है। 

देश में कब कितना हुआ कोरोना
देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख के पार हो गए। देश में 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार और चार मई को दो करोड़ के पार चले गए थे। 

संबंधित खबरें