DA Image
20 नवंबर, 2020|6:30|IST

अगली स्टोरी

Corona Vaccine Update: कोरोना टीका आने के बाद क्या होगी चुनौती और क्या है इंतजाम, जानिए वैक्सीन के भंडारण से जुड़ी हर बात

corona vaccine update

कोरोना से जंग में अब सबकी नजरें टीके पर टिकी हैं। पूरी दुनिया में टीके पर जबरदस्त शोध और परीक्षण हो रहे हैं। पूरी उम्मीद है अगले ही महीने फाइजर कंपनी के टीके को मंजूरी मिल जाएगी। भारत में कोवैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल भी शुक्रवार को हरियाणा में शुरू हो चुका है। टीके की दौड़ में और भी कई कंपिनयां हैं और कइयों के परीक्षण अब अंतिम दौर में हैं। दवा कंपनियों ने टीका बनाने की चुनौती को तो कुछ हद तक पार कर लिया है पर अगली चुनौती है इसके भंडारण और वितरण की। 

फाइजर की वैक्सीन सामान्य फ्रीजर में करीब 5 दिन तक ठीक रहती है। अगर लंबे समय तक स्टोर करना हो तो इसे माइनस 70 डिग्री का तापमान चाहिए। इधर, मॉडर्ना की वैक्सीन 2 से 8 डिग्री सेल्सियस तापमान में 30 दिन तक सुरक्षित रह सकती है। अगर इसे छह महीने तक रखना हो तो माइनस 20 डिग्री तापमान करना होगा। इसी तरह से सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन भी 2 से 8 डिग्री सेल्सियत तापमान पर सुरक्षित रह सकेगी। टीकों का भंडारण और वितरण कैसे करना है इसे लेकर अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं। ज्यादातर शहरों में इसका मुकम्मल इंतजाम या तो हो चुका है या फिर आखिरी चरण में है। 

दिल्ली : अधिकतर बड़े अस्पतालों में कोल्ड चेन 

कोरोना वैक्सीन के रखरखाव को लेकर दिल्ली के तमाम बड़े अस्पतालों में कोल्ड चेन की व्यवस्था है। दिल्ली के सबसे बड़े कोविड अस्पताल लोकनायक के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि उनके अस्पताल में कोल्ड चेन की व्यवस्था उपलब्ध है। वैक्सीन आएगी तो इसे संरक्षित करने के पूरे इंतजाम हैं। इसी तरह एम्स, सफदरजंग, राम मनोहर लोहिया, जीटीबी, मैक्स, अपोलो , गंगाराम अस्पताल में भी कोल्ड चेन उपलब्ध है। सभी कोल्ड चेन आधुनिक हैं। यहां बड़ी संख्या में वैक्सीन का भंडारण करने की व्यवस्था है। कुछ जिले जैसे नई दिल्ली और साउथ और नार्थ वेस्ट में कोल्ड स्टोरज के लिए जगह चिन्हित की जा रही है।

वैक्सीन के लिए स्वास्थ्यकर्मियों के नाम भेजे गए

कोरोना की वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों को लगाई जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने सबसे पहले कोविड़ अस्पतालों से सबसे आगे काम करने वाले स्वास्थ्यकर्मियों के नाम के साथ सूची मांगी है। सभी कोरोना अस्पतालों ने अपने स्वास्थ्यकर्मियों की सूची स्वास्थ्य विभाग को भेज दी है।

लखनऊ : 50 हजार खुराक रखने का इंतजाम 

कोरोना वैक्सीन रखने के लिए स्थान का चयन हो गया है। ऐशबाग बाल महिला चिकित्सालय में वैक्सीन की 50 हजार डोज रखने का बंदोबस्त किया गया है। वैक्सीन किस तापमान में रखी जानी है? किस तरह के आईस लाइन रेफ्रीजीरेटर (आरएलआर) की जरूरत है। यह वैक्सीन तैयार होने के बाद ही तय होगा। प्राथमिक स्तर की तैयारी पूरी कर ली गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संजय भटनागर ने कहा,  बाकी संसाधन उच्च अधिकारियों के निर्देश पर तैयार किए जाएंगे।

कानपुर:  कोरोना वैक्सीन कोल्ड चेन

स्टोर हाउस में वैक्सीन का कोल्डचेन रूम 10 दिसम्बर तक तैयार करने का टारगेट है। इसके लिए 40 बड़े डीप फ्रीजर, 40 छोटे फ्रीजर और दस सामान्य फ्रिज की मांग शासन को भेजी गई है। कोरोना वैक्सीन पहले चरण में मेडिकल स्टाफ को लगाई जाएगी। 40 अस्पतालों के डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ की सूची शासन को भेजी जा चुकी है और आठ हजार हेल्थ वर्कर्स की सूची बनाई जा रही है।

प्रयागराज: दिसंबर के अंत तक तैयारी पूरी 

कोरोना की वैक्सीन के लिए दो से 8 डिग्री तापमान का होना जरूरी है।  प्रयागराज में कोविड वैक्सीन सेंटर बेली हॉस्पिटल के मीटिंग हाल में तैयार किया जा रहा है। वैक्सीन के हिसाब का तापमान बनाए रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से करीब 50 आइस लाइनर रेफ्रिजरेटर की व्यवस्था की जा रही है। संबंधित अधिकारियों के अनुसार, दिसंबर के अंत तक सेंटर बनकर तैयार हो जाएगा।

गाजियाबाद : आधुनिक स्तर की कोल्ड चेन तैयार 

कोरोना वैक्सीन आने पर उसे सुरक्षित रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अफसर पहले ही शासन के निर्देशानुसार तैयारियों में जुटे हुए हैं। जनपद में सभी सरकारी अस्पतालों में कोल्ड चैन की सुविधा उपलब्ध है। वैक्सीन आने से पहले ही स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोल्ड चैन को अपडेट किया जाएगा। डिविजनल सर्विलांस यूनिट के मंडल प्रभारी डॉ अशोक तालियान ने बताया कि जिला एमएमजी अस्पताल, जिला संयुक्त अस्पताल, महिला अस्पताल के अलावा सभी चारों सीएचसी पर कोल्ड चैन उपलब्ध हैं। जनपद की कोल्ड चैन आधुनिक स्तर की हैं। यदि शासन से निर्देश मिलते हैं तो इसे और भी अधिक अपडेट कर दिया जाएगा।

बरेली : 15 दिसंबर तक तैयारी कर लेंगे 

यहां पीलीभीत के पुराने अस्पताल के स्टोर रूम के पास कोल्ड चेन स्टोर बनाया गया है। यहां आइस बॉक्स भी हैं। यहां आइसलाइंड रेफ्रीजरेटर में दो से आठ डिग्री तापमान तक वैक्सीन को सुरक्षित रखे जाने की व्यवस्था है। इसके अलावा डीप फ्रिज में माइनस चालीस तक के तापमान में वैक्सीन का सुरक्षित किया जा सकता है। शाहजहांपुर जिले में करीब एक लाख वैक्सीन स्टोर करने की व्यवस्था की गई है। वैक्सीन लगाने के लिए ब्लाक वार टीमों का गठन किया गया है। जिले में 400 टीमें लगेंगी। 

बदायूं के पुराने कोल्डचेन रूम में एक लाख वैक्सीन रखने की क्षमता है, लेकिन एक नया कक्ष भी बनाया जा रहा है। जिले में करीब 77 सरकारी अस्पताल व 45 प्राइवेट अस्पताल चिह्नित हो गये हैं। अब तक 3300 लोगों की सूची तैयार हो चुकी है। लखीमपुर जिले में कोरोना की पांच लाख वैक्सीन को सुरक्षित रखने का इंतजाम किया जा रहा है। इसके लिए ड्रग वेयर हाउस और जिला अस्पताल में स्टोर सेंटर बनाए जाएंगे। 

आगरा : वैक्सीन के लिए बना स्टोर

आगरा के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय परिसर में वैक्सीन स्टोर बन रहा है। यह 500 स्क्वायर मीटर एरिया में बनेगा। इसके लिए शासन से 17 लाख रुपये मांगे गए थे, जिसमें से 11 लाख स्वीकृत हो गए हैं। दिसंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। सीएमओ डॉ. आरसी पांडेय के मुताबिक डब्लयूएचओ के मानकों के मुताबिक सभी स्तरों की रेफ्रिजरेशन की व्यवस्था होगी। 

गोरखपुर 

गोरखपुर जिले में 500 स्क्वायर फुट जगह में सीएमओ कार्यालय के बगल में स्थित खाली जमीन पर वातानुकूलित हॉल तैयार किया जा रहा है। इस हॉल में चार क्यूबिकल होंगे। यह पूरी तरह वातानुकूलित होगा। इसके अलावा 8 डीप फ्रीजर खरीदने की भी स्वास्थ्य विभाग की योजना है। इसके लिए प्रस्ताव भेजा गया है।
-बस्ती में 1600 स्क्वायर फुट जमीन की तलाश हो रही है। महराजगंज में सदर सीएचसी में कोविड कोल्ड चेन कक्ष बनेगा। देवरिया में जिला अस्पताल में वैक्सीन रखने की व्यवस्था है वहीं कुशीनगर में सीएमओ ऑफिस परिसर में वैक्सीन रूम पहले से था। वहीं कोरोना वैक्सीन रखी जाएगी। इसके अलावा संतकबीरनगर में सीएमओ दफ्तर परिसर में पांच सौ वर्ग फुट में कोल्ड चेन रूम बनेगा। सिद्धार्थनगर में जिला अस्‍पताल, सीएमओ कार्यालय, सभी सीएचसी-पीएचसी में पहले से वैक्सीन स्टोर है

वाराणसी : चौकाघाट में बनने जा रहा कोरोना वैक्सीन स्टोर

बनारस में कोरोना वैक्सीन स्टोर बनाने की तैयारी शुरू हो गई है। चौकाघाट स्थित शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 500 वर्ग फ़ीट में स्टोर बनेगा। 100 वर्ग फ़ीट ड्राई क्षेत्र रहेगा। जिसमें स्टाफ की बैठने की व्यवस्था होगी। वहीं 400 वर्ग फ़ीट वेट क्षेत्र होगा। न्यूनतम तापमान के लिए आईएलआर और डीप फ्रीजर रहेगा। इसके लिए 10.66 लाख का बजट स्वीकृत हो गया है। सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने बताया की 15 दिसंबर तक इस स्टोर को तैयार कर लिया जाएगा।

नोएडा :  डीप फ्रीजर का इंतजाम किया 

जिले में कोरोना वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए विशिष्ठ डीप फ्रीजर की व्यवस्था है। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नीरज त्यागी ने कहा कि कितनी वैक्सीन मिलेंगी, इसको लेकर अभी जानकारी नहीं है लेकिन वैक्सीन को अलग अलग जरूरी तापमान में रखने के लिए विशिष्ठ डीप फ्रीजर हैं। उन्होंने कहा कि सेक्टर 39 स्थित स्वास्थ्य विभाग में नियमित टीकाकरण वैक्सीन को रखने के लिए कोल्ड चेन हैं। इसी स्थान पर विशिष्ठ डीप फ्रीजर में कोरोना वैक्सीन भी अलग अलग जरूरी तापमान के आधार पर सुरक्षित रखी जाएगी।

फरीदाबाद : 10 लाख वैक्सीन का इंतजाम 

फरीदाबाद के ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में 10 लाख वैक्सीन रखने की कोल्ड चेन तैयार होगी। इसके लिए मात्र एक सप्ताह का समय चाहिए। फिलहाल अस्पताल में कोल्ड चेन व्यवस्था है। मेडिकल कॉलेज के रज्ट्रिरार डॉ. अनिल पांडे ने बताया कि उनके पास (-70 डिग्री) तापमान में रखने की व्यवस्था पहले से है क्योंकि कुछ दवाएं ऐसी हैं जिन्हें इतने तापमान पर रखना होता है। अभी यह नहीं पता है कि वैक्सीन की कितनी डोज रखनी होगी। संख्या के बारे में जानकारी मिल जाए तो उसी हिसाब से व्यवस्था कर ली जाएगी। अस्पताल में कम से कम 10 लाख यूनिट रखने की व्यवस्था हो जाएगी। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona Vaccine Update: What will be the challenge after the Corona vaccine and what is the arrangement know everything related to vaccine storage