DA Image
28 नवंबर, 2020|2:37|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वैक्सीन: मार्च तक खत्म हो सकते हैं स्पूतनिक V के भारतीय परीक्षण, डॉ रेड्डी की लैब ने दी जानकारी

sputnik v  the first registered covid-19 vaccine of the world  will now undergo trials in india   re

डॉ रेड्डी की दवाई बनाने वाली लैब ने बुधवार को रूसी कोरोना वैक्सीन के ट्रायल की शुरुआती समयसीमा निकाली है। जिसमें बताया गया है कि मार्च 2021 के अंत तक इसके पूरा होने की उम्मीद है। मुख्य कार्यकारी अधिकारी ईरेज़ इजरायल ने कहा कि स्पुतनिक-V वैक्सीन के मध्य चरण के परीक्षण के लिए नामांकन अगले कुछ हफ्तों में शुरू होगा और दिसंबर तक परीक्षण समाप्त होने की संभावना है।

इजरायली ने प्रेस ब्रीफइंग में कहा "(चरण 3 का परीक्षण) मार्च के अंत तक तेज़ हो सकता है, लेकिन यह अप्रैल या मई में भी जा सकता है," उन्होंने ये भी कहा कि टाइमलाइन को जोड़ना चरण 2 के परीक्षण परिणामों और अधिकारियों से आगे की मंजूरी पर निर्भर करेगा। कोरोना वायरस पर काबी पाने के लिए भारत वैक्सीन पर ही अपनी उम्मीदें टिका कर बैठा है। चल रहे त्योहारी सीजन और राज्य विधानसभा चुनाव को स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा प्रकोप से जुड़ी चुनौतियों से जोड़कर देखा जाता है।

यह भी पढ़ें- कोरोना संकट में बढ़े सरकारी स्कूलों की तरफ रुझान, अभिभावकों के पास बढ़े स्मार्टफोन

हैदराबाद स्थित कंपनी को सितंबर में रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद, इस महीने की शुरुआत में स्पुतनिक-V वैक्सीन के भारत में देर से नैदानिक ​​परीक्षणों के लिए नए सिरे से मंजूरी मिली थी। कंपनी को उम्मीद है कि मिड-स्टेज ट्रायल के लिए 100 प्रतिभागी और लेट-स्टेज के लिए 1,500 लोग दाखिला लेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona vaccine Indian trials of Sputnik V may end by March Dr Reddy lab gave information