DA Image
27 मार्च, 2020|11:40|IST

अगली स्टोरी

कोरोना: मध्य प्रदेश में कर्फ्यू में छूट के दौरान भीड़ कम करने को ऑड-ईवन का फैसला

lockdown in bihar due to corona  entry of non essential vehicles in supaul prohibited barrier on nep

भारत में कोरोना का कहर जारी है। रोज नए मामले सामने आ रहे हैं। उधर मध्य प्रदेश के इंदौर जिला प्रशासन ने गुरुवार को कर्फ्यू में छूट के दौरान सड़कों पर भीड़ को कम करने के लिए वाहनों के लिए विषम व्यवस्था लागू करने का फैसला किया। इसके अलावा, प्रशासन ने दोपहिया वाहनों पर पिलर सवार और चार पहिया वाहन पर दो से अधिक लोगों को अनुमति नहीं देने का फैसला किया। इंदौर और राज्य के छह अन्य कस्बे और शहर कर्फ्यू के दायरे में हैं। कोई भी नया शहर गुरुवार को कर्फ्यू के दायरे में नहीं आया।

कोरोना वायरस के चलते भारत में लॉकडाउन और उससे पैदा हुए हालात को देखते हुए सरकार ने गुरुवार को 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज घोषित किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पैकेज का ऐलान करते हुए बताया कि गरीबों को तीन माह तक मुफ्त राशन दिया जाएगा। वहीं, सरकारी कर्मचारियों को भी बड़ी राहत देते हुए ऐलान किया कि ईपीएफ में पूरा योगदान सरकार देगी। वित्त मंत्री ने कहा कि गरीबों और मजदूरों को डायरेक्ट कैश ट्रांसफर होगा। केंद्र ने 3.5 करोड़ मजदूरों के लिए राहत का ऐलान करते हुए कहा कि इनकी राहत लिए 31000 करोड़ का फंड है। जो कामगारों पर खर्च होंगे।

बता दें कि इस बीमारी के कारण यूरोप और न्यूयॉर्क की स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गयी हैं। अमेरिका में कारोबारियों,अस्पतालों और सामान्य नागरिकों की मदद करने के लिए अभूतपूर्व 2,200 अरब डॉलर के आर्थिक पैकेज को मंजूरी दी गयी है। इस योजना में हर वयस्क को 1,200 डॉलर और बच्चे को 500 डॉलर दिए जाएंगे।

दुनिया भर में कम से कम 2.8 अरब लोग यानी धरती की एक तिहाई से अधिक आबादी पर लॉकडाउन की वजह से यात्रा करने पर रोक लगी हुई है। उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वायरस के खिलाफ लड़ाई में कीमती समय बर्बाद करने के लिए दुनिया के नेताओं को फटकार लगाई और कहा कि हमने पहले मौके को गंवा दिया और अब यह दूसरा अवसर है जिसे नहीं गंवाना चाहिए। इस बीमारी के कारण 22,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona Odd Even s decision to reduce congestion during curfew exemption in Madhya Pradesh