DA Image
6 जुलाई, 2020|5:19|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन 2.0: गाइडलाइंस उल्लंघन, डॉक्टरों पर हमले के ऊपर सरकार की पैनी नजर

in one of the most glaring incidents of lockdown violations  hundreds of migrant workers gathered ou

देश में कई जगहों पर स्वास्थ्यकर्मियों के ऊपर लगातार हो रहे हमले और बांद्रा समेत कई जगहों पर लॉकडाउन के नियमों के उल्लंघन की आ रही खबरों के बीच केन्द्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि वह कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए रोजाना ऐसी घटनाओं की निगरानी कर रही है।

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “गृह मंत्रालय रोजाना के आधार पर लॉकडाउन के गाइडलाइंस के उल्लंघन पर नजर रख रही है, जिसमें सरकार की नजर लोगों की जुट रही भीड़ के साथ दुकान और प्रतिष्ठानों के खोलने पर भी निगरानी की जा रही है।”

इसमें आगे कहा कहा गया, “स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले की सर्विलांस की जा रही है और क्वारंटाइन के उपाय समेत अन्य चीजें भी निर्धारित की जा रही है। इसके साथ ही, चेतावनी देते हुए कहा गया है कि लॉकडाउन के गाइडलाइंस के उल्लंघन पर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

ये भी पढ़ें: दिल्ली के कोरोना के इन 3 हॉटस्पॉट में कई दिन से नहीं मिला कोई नया केस

जब पहली बार लॉकडाउन का 24 मार्च को ऐलान किया गया था तो सरकार ने आपदा प्रबंधन कानून का सहारा लिया था। बुधवार को एक डॉक्टर समेत दो लोग उस वक्त बुरी तरह से घायल हो गए जब उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की टीम मुरादाबाद के नागफनी इलाके में कोविड-19 संक्रमित एक मरीज के संपर्क में आए रिश्तेदारों को क्वारंटाइन में ले जाने के लिए गए थी।

पुलिस ने हिंसा कर रहे लोगों पर हल्के बल का प्रयोग किया और कम से कम 10 लोगों को हिरासत में लिया। कोरोना के खिलाफ फ्रंट वॉरियर के तौर पर भूमिका निभा रहे स्वास्थ्यकर्मियों पर मुरादाबाद की घटना उन पर हो रहे हमले में सबसे ताजा है।

इससे पहले, यह अफवाह के बाद कि रेलवे की तरफ से गाड़ियों का इंतजाम किया जा रहा है, मंगलवार को भारी संख्या में प्रवासी मजदूर लॉकडाउन के बावजूद अपने गृह राज्य जाने के लिए बांद्रा वेस्ट रेलवे स्टेशन के बाहर इकट्ठा हो गए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ से दूसरी बार लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा के कुछ घंटे बाद ही ये लोग बांद्रा स्टेशन के बाहर इकट्ठा होने लगे थे। पुलिस ने लाठीचार्ज के बाद इन लोगों को वहां से हटाया था।

ये भी पढ़ें: कौन हैं कोरोना की लड़ाई में भामाशाह बने गरीब गाड़ोलिया लोहार? PM ने की है तारीफ

केन्द्रीय गृह मंत्री ने बांद्रा की घटना की गंभीरता से लेते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की थी और कहा था कि ऐसी घटना कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई को कमजोर करेगी। उन्होंने कहा था कि प्रशासन को सतर्क रहने की आवश्यकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona Lockdown government keeps an eye on attack on doctors and Guidelines violations