DA Image
23 मई, 2020|3:30|IST

अगली स्टोरी

सोमवार से शुरू होंगी घरेलू उड़ानें, जानें अलग-अलग राज्यों के क्वारंटाइन नियम

कोविड ​​-19 के कारण लगे प्रतिबंधों में ढील देते हुए अंतर-राज्यीय गतिशीलता को आसान बनाने की दिशा में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने 25 मई से  उड़ानों को फिर से शुरू करने की घोषणा की। इसके हवाई अड्डे के अंदर नियमों का पालन को लेकर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पुष्टि की। हालांकि बाद में एक ट्वीट में मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि इस तरह के कैलिबर के निर्णय राज्यों की मंजूरी के बिना नहीं लिया जा सकता हैं। विमान से अलग अलग राज्यों में पहुंचने वालों के लिए क्वारंटाइन की अवधि अलग अलग तय है।

महाराष्ट्र

भारत में कुल COVID-19 मामलों में 30 प्रतिशत से अधिक महारष्ट्र में हैं। ऐसे में राज्य घरेलू उड़ानों के संचालन के लिए अनिच्छुक था। हालांकि, अपने राज्य में लौटने के इच्छुक फंसे हुए मूल निवासियों की संख्या को ध्यान में रखते हुए, सरकार इसके लिए मान गई। सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार, महाराष्ट्र पहुंचे प्रत्येक यात्री के उतरने पर स्क्रीनिंग के बाद, उन्हें बड़े होटलों में 14 दिनों के अनिवार्य क्वारंटाइन में भेजा जाएगा।

दिल्ली

दिल्ली हवाईअड्डे पर पहुंचने वाले प्रत्येक भारतीय को 14-दिन के क्वारंटाइन से गुजरना होगा। भले ही कोई वे कोरोना वायरस के लक्षण न दिखाएं, लेकिन ये जरूरी होगा। हालांकि इससे पहले सरकार ने लक्षण नहीं दिखा रहे यात्रियों के लिए होम क्वारंटाइन की अनुमति दी थी।

पंजाब और राजस्थान 

पंजाब सरकार की सलाह के अनुसार, दुनिया के अन्य राज्यों या देशों से लौटने वाले लोगों को 14 दिनों के लिए खुद को होम क्वारंटाइन की आवश्यकता होती है। उनमें कोरोना के लक्षण न होने पर भी ये जरूरी होगा। राजस्थान सरकार ने राज्य में आने वाले सभी के लिए सरकारी संस्थान में 14-दिन का क्वारंटाइन अनिवार्य किया है।

बिहार और झारखंड 

बिहारऔर झारखंड आने वालों को पैसे देकर 14 दिनों की क्वारंटाइन सुविधा में रहना होगा। हालांकि,  झारखंड में, सरकार 500,000 लोगों के लिए क्वारंटाइन की व्यवस्था कर रही है। स्वास्थ्य सचिव नितिन कुलकर्णी ने द इकोनॉमिक टाइम्स को बताया कि, "यह अपेक्षित संख्या है, लेकिन सभी लोग नहीं आएंगे और आने वाले लोगों में से कई को कोई लक्षण नहीं होने के कारण होम क्वैरेंटाइन भेजा जाएगा।'

हिमाचल प्रदेश 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने निर्देश दिया है कि रेड जोन से लौटने वाले सभी लोगों को 14-दिन के लिए क्वारंटाइन के तहत रखा जाना चाहिए और केवल COVID-19 के लिए टेस्ट के बाद ही भेजा जाना चाहिए। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि सात दिनों के बाद उन्हें होम क्वारंटाइन होना होगा। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:corona covid 19 As Domestic Flights Resume Here Are State Wise Quarantine Rules You Should Know bihar up jharkhand himachal pradesh