DA Image
30 मई, 2020|3:56|IST

अगली स्टोरी

निजामुद्दीन के तबलीगी जमात में आए 6 हजार लोगों की हुई पहचान, देशभर में हो रही है तलाशी

the jamaat   s six-storey headquarters has emerged as the single biggest source of covid-19 infections

दिल्ली का निजामुद्दीन कोरोना वायरस का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बनकर सामने आया है, जहां से देशभर में तेजी से संक्रमण के फैलने का मामला सामने आ रहे हैं। अथॉरिटीज की तरफ से तबलीगी जमात के मरकज में आयोजित धार्मिक समारोह में शामिल होने वाले करीब 6 से हजार से ज्यादा लोगों की पहचान की गई है।

निजामुद्दीन के मरकज से अलग-अलग राज्यों में गए लोगों के चलते पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के मामले में भारी बढ़ोत्तरी हुई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, बुधवार की शाम तक देशभर से कोरोना के कुल 1834 मामले सामने आए। इनमे से नए मामले 437 है। कोरोना से अब तक देश देश में 41 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 143 को डिस्चार्च कर दिया गया है।

निजामुद्दीन के तबलीगी जमात में शामिल हुए अब तक करीब 5 हजार से ज्यादा लोगों को अलग-अलग राज्यों में क्वारंटाइन किया गया या फिर उन्हें अस्पतालों में भेजा गया है, जबकि गुजरात, तमिलनाडु और तेलंगाना में अन्य 2 हजार लोगों की तलाश की जा रही है।

इस लिस्ट में विदेशी भी शामिल हैं, साथ ही कुछ वो लोग भी हैं जिनकी राज्य सरकार की तरफ से पहचान की गई है, लेकिन वे अभी दिल्ली से अपने राज्य वापस नहीं लौटे हैं। अथॉरिटीज को अब इस बात का डर सता रहा है कि तबलीगी जमात में आए लोगों के चलते कोविड-19 के पॉजिटिव का आंकड़ा काफी बढ़ सकता है।

ये भी पढ़ें: निजामुद्दीन मरकज पर शाहनवाज हुसैन बोले- तबलीगी जमात के लोगों को गंभीरता से लेनी चाहिए थी PM मोदी की बात

केन्द्रीय स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोरोना को लेकर देशभर से बुधवार की रात जो ताजा आंकड़ा जारी किए गए उसके मुताबिक पिछले 24 घंटे के के दौरान कोविड-19 के 437 नए केस आए हैं, अब तक इससे 41 मौत हुई है और 143 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। जबकि, देशभर में कुल 1834 मामले हैं।

लेकिन, अलग-अलग राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की तरफ से जारी आंकड़ों को मुताबबिक कोरोना के कुल 1894 मामले हैं और कम से कम 55 मौत इस महामारी से हो चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि मार्च के मध्य में तबलीगी जमात में हुए धार्मिक जमावड़े के चलते केस में इतना भारी बढ़ोत्तरी हुई है जो नेशनल ट्रेंड नहीं है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी लॉकडाउन के दौरान इसके नियमों का पालन करें और धार्मिक जमावड़े और अन्य समारोहों से दूर रहें।

ये भी पढ़ें: निजामुद्दीन मरकज मामला: तबलीगी जमात के मौलाना साद की खुली पोल, ऑडियो में बोले- डॉक्टरों की बात में आकर मिलना जुलना न कर दें बंद

महाराष्ट्र, तमिलनाडु, और दिल्ली ऐसे राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश हैं जहां पर काफी संख्या में कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं। अथॉरिटीज ने बताया कि दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़कर 152 हो गई, जिनमें 54 लोग वो हैं जो निजामुद्दीन मरकज में गए थे।

महाराष्ट्र में कोविड-19 के केस में 33 नए मामले आने के बाद बुधवार को कुल 335 कोरोना पॉजिटिव हो गए, जिनमें सिर्फ मुंबई से 30 लोग हैं। राज्य सरकार के मुताबिक, यह काफी बढ़ सकता है क्योंकि करीब 5,000 क्वारंटाइन किए गए लोग हाई रिस्क कैटगरी में है।

तो वहीं, तमिलनाडु में 110 लोग जो दिल्ली के तबलीगी जमाते से वापस लौटे थे, वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिसके बाद राज्य मे कुल संख्या 234 हो गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Cornoa virus Nizamuddin Tabligi Jamaat identified 6 thousand people who attended searches are being done all over the country