DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जन्म से आपस में जुड़वा बहनों ने डाला वोट, पहली बार किया अलग-अलग मतदान

patna  conjoined sisters saba   farah cast their votes as separate individuals with independent voti

बिहार की राजधानी पटना निवासी एवं जन्म से सिर से आपस में जुड़ी दो बहनों ने वोट डाला। चुनाव आयोग ने दोनों बहनों को अलग-अलग व्यक्तियों के तौर पर व्यवहार का अधिकार प्रदान किया गया है। 

सबाह और फराह (23) आपस में जुड़ी जुड़वा हैं जो शहर के समनपुरा क्षेत्र में रहती हैं। वे रविवार को दोनों बहनों ने वोट डाला। 2015 के विधानसभा चुनाव में दोनों के नाम एक ही मतदाता पहचानपत्र पर थे और इसलिए उनका एक ही वोट माना गया था। 

पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहा कि जुड़वा को उनकी शारीरिक स्थिति के चलते उनकी अलग-अलग पहचान से वंचित नहीं किया जा सकता। उनका दिमाग अलग अलग है, अलग-अलग विचार और पसंद हैं। इसलिए बाद में उन्हें अलग-अलग मतदाता पहचानपत्र जारी किये गए हैं और उन्हें बारी बारी से वोट डालने की इजाजत मिलेगी।

उन्होंने कहा कि दोनों को एक ही मतदाता के तौर पर इसलिए माना गया क्योंकि मतदान गोपनीय होना चाहिए और जब कोई मतदान कर रहा हो तो वहां कोई मौजूद नहीं होना चाहिए। यद्यपि ये जुड़वा आपस में इस तरह से जुड़ी हैं, उनके सिर इस तरह से आपस में जुड़े हैं कि वे हमेशा विपरीत दिशा में देखेंगी। इसलिए इसमें अधिक समस्या नहीं होनी चाहिए। पटना साहिब सीट पर अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं और उनका मुकाबला केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से है। 

इन जुड़वा लड़कियों की कहानी हाल में चुनाव आयोग ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर हैशटैग चुनावकीकहानियां से साझा की थी। दोनों को शल्यक्रिया के जरिये अलग करने के बहुत प्रयास किये गये लेकिन चिकित्सकों ने जांच के बाद इसे जटिल आपरेशन बताया था। बाद में उच्चतम न्यायालय ने राज्य सरकार को दोनों बहनों को पांच हजार रुपये महीना देने का निर्देश दिया था जिसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर बढ़ाकर 20 हजार रुपये कर दिया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Conjoined sisters Saba and Farah cast their votes as separate individuals with independent voting rights for the first time