DA Image
16 दिसंबर, 2020|3:33|IST

अगली स्टोरी

कांग्रेस ने मोदी सरकार से पूछा, क्या जम्मू-कश्मीर के तीनों पूर्व मुख्यमंत्री देशद्रोही हैं?

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला को महीनों बाद हिरासत से रिहा जाने के बाद सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि क्या देश के संविधान में विश्वास रखने एवं अलगाववादियों से लड़ने वाले अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला देशद्रोही हैं।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ''तीन-तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को महीनों पहले हिरासत में लिया गया। जो देश के संविधान और प्रजातंत्र में विश्वास रखते एवं अलगाववादियों से लड़ते आए हैं, जिनके साथ मोदी जी ने सरकार बनाने के लिए कसमे-वादे निभाए थे, क्या वो सब देशद्रोही हैं?"

उन्होंने सवाल किया, ''दो और पूर्व मुख्यमंत्रियों को हिरासत में रखा गया है। क्या इससे देश का प्रजातंत्र मजबूत होगा या फिर उन ताकतों को मजबूत मिलेगी जो इस देश के खिलाफ साजिश कर रहे हैं? यह सवाल मैं देश की जनता के विवेक पर छोड़ता हूं।"

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला को सात महीने तक हिरासत में रखे जाने को लेकर शुक्रवार (13 मार्च) को मोदी सरकार पर प्रहार किया। साथ ही, आरोप लगाया कि इस केंद्र शासित प्रदेश में तानाशाही और मनमानी ने कानून का रूप ले लिया है। जम्मू कश्मीर प्रशासन द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ सख्त जन सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) निरस्त किए जाने और अब्दुल्ला को रिहा किए जाने के बाद चिदंबरम ने सरकार पर यह हमला बोला। 

चिदंबरम ने कहा, ''डॉ फारुक़ अब्दुल्ला, आजाद हवा में स्वागत है। बगैर आरोपों के सात महीने तक उन्हें हिरासत में रखने का क्या औचित्य था? यदि यह उचित था (ऐसा कुछ नहीं था), तो उन्हें आज रिहा करने का क्या कारण है?" पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ''कश्मीर में 'तानाशाही और मनमानी ने कानून का रूप ले लिया है: और यह वायरस भारत में कई राज्यों में फैल रहा है।"

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Congress Traget Modi Govt Over Farooq Abdullah Omar Abdullah Mehbooba Mufti Detaintion