अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गठबंधन के साथ अपना घर भी मजबूत करने में जुटी कांग्रेस

कांग्रेस का झंडा थामे एक युवक।

कांग्रेस दोहरी रणनीति पर अमल कर रही है। एक तरफ जहां पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को शिकस्त देने के लिए अधिकतर राज्यों में गठबंधन करने की तैयारी में जुटी है, वहीं दीर्घकालिक योजना के तहत वह संगठन को मजबूत बनाने का भी खाका तैयार कर रही है। पार्टी उन प्रदेशों में अधिक ध्यान दे रही हैं, जहां वह लंबे वक्त से सत्ता से बाहर है।

लोकसभा चुनाव में गठबंधन के लिए कांग्रेस ने समान विचारधारा वाली सभी पार्टियों के साथ गठबंधन का विकल्प खुला रखा है। उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र और तमिलनाडु आदि में कांग्रेस गठबंधन के सहयोगियों को अधिक अहमियत देने को भी तैयार है। ताकि, 2019 के चुनाव में भाजपा को शिकस्त दी जा सके। इसके साथ पार्टी संगठन को मजबूत बनाने की रणनीति का खाका भी तैयार कर रही है। इसमें लोगों को जोड़ना भी शामिल है।

संगठन को मजबूत करने के लिए 'शक्ति' के जरिए कांग्रेस हर बूथ पर अपने कार्यकर्ताओं का डाटा जुटा रही है। साथ ही पार्टी के सभी इकाइयों को अपने-अपने लक्ष्य वर्गों पर ध्यान केंद्रित करने के निर्देश दिए हैं। इसी को लेकर पिछले दिनों सभी इकाइयों के अध्यक्षों ने पार्टी महासचिव अशोक गहलोत को एक प्रस्तुति भी दी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जल्द सभी इकाइयों अध्यक्षों से मुलाकात करेंगे।

तेलंगाना: कांग्रेस के साथ पहली बार गठबंधन को तैयार टीडीपी

कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि अगर सभी इकाइयां प्रस्तुति के मुताबिक अपनी रणनीति को अमलीजामा पहनाने में कामयाब रहे, तो पार्टी कोई कोई मुश्किल नहीं होगी। समाज के हर वर्ग को पार्टी अपने साथ जोड़ पाएगी। इसके साथ कांग्रेस ने सभी प्रदेश अध्यक्षों और प्रभारियों को नवंबर तक बूथ से लेकर प्रदेश कांग्रेस तक सभी पद भरने के भी निर्देश दिए हैं।

कई प्रदेश अध्यक्षों का ऐलान जल्द 

कांग्रेस की इन कोशिशों से यह कयास भी तेज हो गए है कि पार्टी उन सभी प्रदेशों में जल्द अध्यक्षों का ऐलान कर देगी, जहां बदलाव किया जाना है। इनमें बिहार व तमिलनाडु सहित कई प्रदेश शामिल हैं। बिहार प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता किशोर कुमार झा कहते हैं कि संगठन को मजबूत बनाने में प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका काफी अहम होती है। पार्टी को कार्यक्रमों के साथ जमीनी स्तर पर लोगों तक पहुंचना चाहिए।

बिहार के सांसदों-विधायकों पर सर्वाधिक आपराधिक केस, केंद्र सरकार ने SC में दी जानकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress to strengthen its own assembly seats with coalition