DA Image
27 नवंबर, 2020|7:43|IST

अगली स्टोरी

कृषि बिलों के विरोध में 21 सितंबर को देशव्यापी आंदोलन करेगी कांग्रेस, पार्टी के बड़े नेताओं की होगी मीटिंग

agricultural marketing  farmers   mandi

कृषि बिलों को लेकर चल रही असहमति बीच, कांग्रेस केंद्र सरकार पर कॉरपोरेट्स का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए देशव्यापी आंदोलन करने की योजना बना रही है। इसी संबंध में 21 सितंबर को पार्टी ने एक मीटिंग का आयोजन किया है। जिन लोगों को बैठक में भाग लेने के लिए कहा गया है, उनमें समिति के सदस्य, महासचिव और राज्य प्रभारी शामिल हैं।
सूत्रों के मुताबिक पार्टी की अंतिरम अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी ने मीटिंग के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए हैं. कांग्रेस ने पहले संसद में नए कृषि बिलों का विरोध करने का फैसला किया था। न केवल कांग्रेस, बल्कि केंद्र में भाजपा की सहयोगी रही अकाली दल ने भी खेत के बिल का विरोध किया है। यहां तक ​​कि, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़े भारतीय किसान संघ ने भी बिलों की आलोचना की है।

बिल के जरिए उधोगपतियों की मदद करने का आरोप
राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर इन बिलों के माध्यम से उद्योगपतियों की मदद करने का आरोप लगाया है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान, राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने भूमि अधिग्रहण कानून का विरोध किया था और सरकार को पीछे पर धकेलने में कामयाब रही थी। पार्टी का लक्ष्य एक बार फिर इसी तरह के प्रयासों को दोहराने का है।

किसानों की नाराजगी

इससे पहले केंद्र द्वारा कृषि क्षेत्र में सुधार लाने के उद्देश्य से लाए गए तीन विधेयक लोकसभा द्वारा पारित किए गए थे। पंजाब और हरियाणा के किसानों ने इस बिल को लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त की है और इस संबंध में विरोध प्रदर्शन शुरू किया है। बिलों के विरोध में आवाज उठाने के बाद अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने भी केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। दूसरी ओर बिलों का बचाव करते हुए सरकार ने कहा है कि ये बिल किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए लाय गया है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में उन्हीं कृषि सुधारों के बारे में बात की थी, जिन्हें केंद्र सरकार लाई थी। कांग्रेस ने उनके बयान को खारिज कर दिया और इसे गुमराह करने का प्रयास बताया। लोकसभा में पारित होने के बाद रविवार को राज्यसभा में कृषि बिल पेश किए जाने की उम्मीद है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Congress to organize nationwide agitation against agrarian bill on September 21