DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव: उत्तराखंड में मिला कांग्रेस को नया हथियार, बसपा में भी सेंधमारी

Rahul Gandhi

Uttarakhand Lok Sabha Elections 2019 पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) भुवन चंद्र खंडूड़ी के बेटे मनीष खंडूड़ी को पार्टी में शामिल करके कांग्रेस देशव्यापी संदेश देना चाहती है। संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष रहते जनरल खंडूड़ी ने जिन मुद्दों को उठाया था, कांग्रेस उन्हीं को केंद्र के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल करने की तैयारी में है। कांग्रेस में शीर्ष स्तर पर चल रही मशक्कत से साफ संकेत मिल रहे हैं कि मनीष खंडूड़ी शनिवार को देहरादून में कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं। उनकी एंट्री के साथ-साथ कांग्रेस का चुनावी प्लान भी तैयार है। कांग्रेस मनीष के जरिए सेना की जरूरतों और सैनिकों की उपेक्षा को मुद्दा बनाने जा रही है।

यूपी में बीजेपी इन मौजूदा सांसदों का कर सकती है पत्ता साफ

जनरल खंडूड़ी का बेटा होने की वजह से मनीष की एंट्री को खंडूड़ी की सरकार के प्रति नाराजगी के रूप में पेश किया जाएगा। खंडूड़ी की छवि ईमानदार नेता की रही है। वे इस समय गढ़वाल संसदीय सीट से भाजपा के सांसद हैं और उनकी बेटी ऋतु खंडूड़ी भी गढ़वाल सीट के तहत आने वाले यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी की विधायक हैं। अब कांग्रेस खंडूड़ी की सीट पर ही उनके बेटे को लोकसभा चुनाव में उतारकर भाजपा पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश करेगी। पौड़ी गढ़वाल सीट पर पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों से जुड़े मतदाताओं का दबदबा है। सैनिकों से जुड़े मुद्दे इस वक्त गरम हैं। खंडूड़ी की पूर्व सैनिकों के बीच अच्छी पैठ मानी जाती है।

हालांकि, उनके बेटे मनीष का सेना से वास्ता नहीं रहा है, लेकिन कांग्रेस को लगता है कि सैनिक परिवार से होने और पूर्व मुख्यमंत्री खंडूड़ी के बेटे के नाते उन्हें पूर्व सैनिकों के बीच चुनावी माहौल बनाने में दिक्कत नहीं होगी। कांग्रेस इस दांव से मनीष खंडूड़ी के जरिए पूर्व सैनिकों के बीच पैठ बनाने की रणनीति पर भी काम कर रही है। प्रदेश कांग्रेस का एक खेमा बीसी खंडूड़ी को रक्षा मामलों की संसदीय समिति के अध्यक्ष पद से अलग करने को भी मुद्दा बनाने की रणनीति पर काम कर रहा है।

Lok sabha Elections लड़ने की तैयारी में कई सैन्य अधिकारी, BJP से टिकट की मांग ज्यादा

खंडूड़ी की अध्यक्षता वाली समिति ने सेना के लिए बजट की कमी से लेकर आधुनिक हथियारों की जरूरत पर सरकार को रिपोर्ट सौंपी थी। कांग्रेस चुनाव में इस मुद्दे को हवा देने की तैयारी कर रही है कि खंडूड़ी जैसे वरिष्ठ नेता को सेना के हित में दी गई उस रिपोर्ट की सजा दी गई।

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा, 'भाजपा का राष्ट्रवाद कोरा नारा है। भाजपा को केवल सत्ता चाहिए, इसके लिए वह किसी को भी दांव पर लगा सकती है। जनरल खंडूड़ी की अध्यक्षता वाली रक्षा समिति की रिपोर्ट पर अमल न करना इसे साबित करता है। कांग्रेस जनता के सामने भाजपा की असलियत को लाने का काम करेगी।'

पिता का प्रचार संभालते रहे हैं मनीष
सोशल मीडिया पर जनरल खंडूड़ी और मनीष के मतभेदों की चर्चा भी चल पड़ी है। हालांकि, खंडूड़ी के चुनाव प्रचार का काम मनीष ही देखते रहे हैं। मीडिया सेक्टर से जुड़े मनीष लंबे समय से अपने पिता की राजनीतिक जमीन को बेहद खामोशी के साथ पुख्ता करने में जुटे रहे हैं। पौड़ी गढ़वाल सीट पर बीसी खंडूड़ी के साथ उन्हें कार्यकर्ता के रूप में देखा जाता रहा है।

कांग्रेस ने बसपा में की सेंधमारी
उत्तर प्रदेश में बसपा के उपेक्षित व्यवहार का सियासी बदला कांग्रेस शनिवार को उत्तराखंड में चुकाने जा रही है। इस दिन कांग्रेस में शामिल होने वाले नेताओं में सबसे ज्यादा बसपा से ही जुड़े हैं। सूत्रों के अनुसार, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नत्थू सिंह और सतीश कुमार के साथ ही सुभाष चौधरी के कांग्रेस ज्वाइन करने के संकेत हैं। उनके साथ कुछ जिलाध्यक्ष और जिला पंचायत सदस्य भी कांग्रेस का हाथ थामेंगे।

लोकसभा चुनावः कन्नौज ने यूपी से दिल्ली तक दिए तीन मुख्यमंत्री

पिछले काफी समय से ये बसपा नेता कांग्रेस के संपर्क में हैं। खुद प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की वार्ता इनके साथ चल रही थी। प्रदेश प्रभारी ने कहा कि बसपा के साथ ही भाजपा, सपा और वामदलों के नेता-कार्यकर्ता भी कांग्रेस से जुड़कर देश सेवा करना चाहते हैं। इन सभी को शनिवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता दिलाई जाएगी। वहीं, कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की परिवर्तन रैली पर सबकी निगाहें रहेंगी। कांग्रेस वर्किंग कमेटी के बाद राहुल की यह बड़ी चुनावी जनसभा होगी।

मनीष के कांग्रेस में शामिल होने का ऐलान आज
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मेजर जनरल (सेनि) बीसी खंडूड़ी के पुत्र मनीष खंड़ूड़ी शनिवार को कांग्रेस में शामिल होंगे। मनीष के साथ ही बसपा के कुछ नेता भी कांग्रेस का हाथ थामेंगे। कांग्रेस ने पार्टी में शामिल होने वाले नेताओं की सूची एसपीजी को भी सौंप दी है। सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है। सूत्रों ने यह भी बताया कि कांग्रेस में शामिल होने वाले नेताओं में सबसे पहला नाम मनीष खंडूड़ी का है। इनके बाद बसपा नेताओं के नाम हैं। इस सूची में पीके अग्रवाल और लक्ष्मी अग्रवाल और कांग्रेस से बगावत कर टिहरी पालिका का चुनाव लड़ने वालीं सीमा कृषाली का भी नाम शामिल किया गया है।

यूपी के संभल से सपा ने उतारे उम्मीदवार, मुलायम की छोटी बहू का नहीं नाम

दून में आज चार घंटे रहेंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को देहरादून में चार घंटे रहेंगे। एसपी सिटी श्वेता चौबे के अनुसार, दोपहर 12 बजे वो नई दिल्ली से हवाई जहाज से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचेंगे। 12:10 बजे यहां से चॉपर से परेड ग्राउंड आएंगे। दोपहर 12:15 से 1:30 बजे तक राहुल परेड ग्राउंड की जनसभा में शामिल रहेंगे। 1:30 बजे बाद राहुल शहीदों के परिजनों से भी मिलेंगे। वो सबसे पहले शहीद मेजर चित्रेश बिष्ट के परिजनों से मुलाकात करेंगे। फिर पुलवामा में शहीद मोहनलाल रतूड़ी के परिजनों से मिलेंगे और बाद में शहीद मेजर विभूति ढौंडियाल के परिजनों का भी हाल जानेंगे। इसके बाद शाम के समय जौलीग्रांट एयरपोर्ट से नई दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress Strategy in Uttarakhand For Lok Sabha Elections 2019