DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस बोली- सत्ता में आए तो नोटबंदी की जांच होगी, फायदा और नुकसान जानने के लिए श्वेत-पत्र की मांग की

congress

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी के दो साल पूरा होने के मौके पर नरेंद्र मोदी सरकार के इस कदम के खिलाफ शुक्रवार को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन किया और कहा कि 2019 में पार्टी की सरकार बनी तो इस घोटाले की जांच कराई जाएगी।

पार्टी ने यह भी कहा कि सरकार को यह पता करने के लिए श्वेत-पत्र लाना चाहिए कि नोटबंदी से क्या फायदा और नुकसान हुआ। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भोपाल में कहा, दो साल पहले 8 नवंबर 2016 को मोदी ने नोटबंदी को आर्थिक क्रांति का नया सूत्र बताते हुए कहा था कि इससे सारा कालाधन पकड़ा जाएगा, फर्जी नोट पकड़े जाएंगे और आतंकवाद एवं नक्सलवाद देश से खत्म हो जाएगा। सूरजेवाला ने दावा किया, ‘लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। न कालाधान विदेशों से वापस आया, न फर्जी नोट पकड़े गए और न ही आतंकवाद एवं नक्सलवाद खत्म हुआ, बल्कि और बढ़ गया।’

रिजर्व बैंक के सामने प्रदर्शन
पार्टी के संगठन महासचिव अशोक गहलोत और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने दिल्ली में भारतीय रिजर्व बैंक के बाहर प्रदर्शन किया जहां से पुलिस ने उनको हिरासत में लिया। हालांकि कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया। इस मौके पर गहलोत ने कहा, ‘प्रधानमंत्री ने 50 दिन मांगे थे और कहा था कि आतंकवाद एवं नक्सलवाद खत्म हो जाएगा तथा कालाधन खत्म हो जाएगा। अब हम प्रधानमंत्री से पूछ रहे हैं कि वह बताएं कि नोटबंदी से क्या फायदा हुए।’ गहलोत ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि प्रधानमंत्री श्वेत-पत्र जारी करें। वह बताएं कि क्या फायदे हुए और क्या बर्बादी हुई। वह पूरे देशवासियों से माफी मांगे कि उनसे गलती हो गई क्योंकि वह नए नए प्रधानमंत्री बने थे और जोश में यह कदम उठा दिया। कांग्रेस ने देश के सभी राज्यों में नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन किया।


पंजाब, हरियाणा में प्रदर्शन
पार्टी ने पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किया और इस कदम से अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने एवं लोगों के लिए परेशानी पैदा करने को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेस की जम्मू-कश्मीर इकाई ने जम्मू में आरबीआई कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सुधीर शर्मा के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम किया और मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। पार्टी की त्रिपुरा इकाई ने भी नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन किया।


वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, 'मोदी सरकार का यह कदम खुद से पैदा की गई ‘त्रासदी’ और ‘आत्मघाती हमला’ था जिससे प्रधानमंत्री के ‘सूट-बूट वाले’ मित्रों ने अपने कालेधन को सफेद करने का काम किया।'
 

कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि आरबीआई ने नोटबंदी के समय इसका विरोध किया था, लेकिन मोदी जी नहीं माने और नोटबंदी की घोषणा कर दी। प्रधानमंत्री तुगलकी फरमान जारी करके देश चलाना चाहते हैं। वित्तमंत्री भी पूरी तरह विफल हैं और प्रधानमंत्री को खुश करने के लिए बयान देते रहते हैं।
 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नोटबंदी आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला है। यदि कांग्रेस की सरकार अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में सत्ता में आएगी, तो हम सबसे पहले नोटबंदी के घोटाले की जांच कराएंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:congress says will investigate the demonetization when come to power