ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देश2024 में कैसे करें मोदी से मुकाबला... विपक्ष को साथ लें या एकला चलो? CWC में माथा-पच्ची

2024 में कैसे करें मोदी से मुकाबला... विपक्ष को साथ लें या एकला चलो? CWC में माथा-पच्ची

खड़गे ने नगालैंड के दिमापुर में कहा था, 'केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाला गठबंधन सत्ता में आएगा। हम दूसरी पार्टियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। भाजपा को बहुमत नहीं मिलेगा... अन्य सभी दल साथ आएंगे।'

2024 में कैसे करें मोदी से मुकाबला... विपक्ष को साथ लें या एकला चलो? CWC में माथा-पच्ची
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 24 Feb 2023 08:39 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव 2024 में विपक्षी दलों की स्थिति क्या होगी? क्या कोई तीसरा मोर्चा बनेगा या फिर कांग्रेस इन्हें अपने नेतृत्व में एकजुट करने में सफल होगी? ये ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब तलाशे तो जा रहे हैं मगर अभी कुछ भी दावे के साथ कह पाना मुश्किल है। कांग्रेस का तीन दिवसीय महाधिवेशन शुक्रवार को रायपुर में आरंभ हुआ। आज फैसला हुआ कि कांग्रेस कार्य समिति का चुनाव नहीं होगा, बल्कि मल्लिकार्जुन खड़गे सदस्यों को नामित करने के लिए अधिकृत होंगे। CWC को लेकर स्थिति भले ही साफ हो गई हो, मगर 2024 में विपक्षी पार्टियों के साथ लाने पर माथा-पच्ची जारी है। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीनियर कांग्रेस नेता ने दावा किया कि पार्टी ममता बनर्जी, नीतीश कुमार और के चंद्रशेखर जैसे क्षेत्रीय दिग्गजों के साथ काम करना चाहती है। यह बयान ऐसे समय सामने आया है जब टॉप लीडर राहुल गांधी और सीएम बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के साथ नई लड़ाई खड़ी हो गई। एनडीटीवी के अनुसार, गठबंधन से संबंधित कांग्रेस की राजनीतिक मामलों की समिति के अध्यक्ष वीरप्पा मोइली ने बताया कि पार्टी उनके साथ साझेदारी करना चाहती है।

'ममता, नीतीश और KCR के साथ काम करेगी कांग्रेस'
वीरप्पा मोइली ने कहा, 'हम मुद्दों को सुलझाएंगे। पार्टी ममता बनर्जी, नीतीश कुमार और के चंद्रशेखर राव के साथ काम करेगी। हमें गठबंधन का नेतृत्व करने की जरूरत है। हम एक साथ काम करेंगे और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सभी एक साथ आएं। फिलहाल कांग्रेस को मजबूत करने की जरूरत है। जब हम मजबूत होंगे, तभी हम लीड कर सकेंगे।'

मेघालय में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था, 'आप टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस) के इतिहास को जानते हैं जो कि पश्चिम बंगाल में हिंसा और घोटाले से जुड़ा है। आप उनकी परंपरा को भी अच्छी तरह जानते हैं। उन्होंने गोवा चुनाव में बड़ी रकम खर्च की और जिसका मकसद भाजपा की मदद करना था। वे मेघालय में भी इसी सोच से आए हैं। मेघालय में टीएमसी का आइडिया यह सुनिश्चित करना है कि भाजपा मजबूत हो और सत्ता में आए।'

TMC से बढ़ी तनातनी तो एकजुटता की भी बात
राहुल और टीएमसी में हुई गहमा-गहमी के बीच कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि 2024 में उनकी पार्टी सहयोगी दलों के साथ मिलकर सरकार बनाएगी। उन्होंने विपक्षी एकजुटता की पैरवी करते हुए कहा, 'कांग्रेस और हमारी दोस्त पार्टियां 2024 में मिलकर जरूर सरकार बनाएंगी। सबके सहयोग के साथ सरकार बनाएंगे, सामूहिक रूप से सरकार बनाएंगे।' वह नई दिल्ली में राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) के अधिवेशन को संबोधित कर रहे थे।

खड़गे ने मंगलवार को नगालैंड के दिमापुर में कहा था, 'केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाला गठबंधन सत्ता में आएगा। हम दूसरी पार्टियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। भाजपा को बहुमत नहीं मिलेगा... अन्य सभी दल साथ आएंगे। हम संविधान और लोकतंत्र का पालन करेंगे... चाहे 100 मोदी या शाह आ जाएं। यह भारत है और संविधान बहुत मजबूत है।'

नीतीश ने तो पहले ही बढ़ाया कांग्रेस का हौसला
गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले दिनों कांग्रेस से विपक्षी गठबंधन पर जल्द कदम उठाने की अपील की थी। नीतीश कुमार ने कहा था कि कांग्रेस को भारत जोड़ो यात्रा से बने माहौल का लाभ उठाते हुए भाजपा विरोधी दलों को एकजुट कर गठबंधन बनाना चाहिए। उन्होंने कहा, 'अगर ऐसा हो गया तो अभी 300 से ज्यादा सीट वाली भारतीय जनता पार्टी को 2024 के लोकसभा चुनाव में 100 से भी कम सीट पर समेटा जा सकता है।' समर्थन और टकराहट के बीच नजरें अब CWC पर टिकीं हैं कि 2024 से पहले इस अहम बैठक में विपक्ष को लेकर कांग्रेस किसी फैसले पर पहुंच पाती है या नहीं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें