ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशबैर न करा दे अध्यक्ष पद का मुकाबला! कांग्रेस की नेताओं को नसीहत- उम्मीदवारों पर बोलने से बचें

बैर न करा दे अध्यक्ष पद का मुकाबला! कांग्रेस की नेताओं को नसीहत- उम्मीदवारों पर बोलने से बचें

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने पार्टी के प्रत्येक प्रवक्ता और नेताओं से आग्रह किया है कि वे कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की टिप्पणी से बचें।

बैर न करा दे अध्यक्ष पद का मुकाबला! कांग्रेस की नेताओं को नसीहत- उम्मीदवारों पर बोलने से बचें
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 23 Sep 2022 03:48 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने पार्टी के प्रत्येक प्रवक्ता और नेताओं से आग्रह किया है कि वे कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की टिप्पणी से बचें। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत प्राथमिकताओं को छोड़ अपने काम का पालन करते रहें। दरअसल, गुरुवार को कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने शशि थरूर और अशोक गहलोत पर बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि दोनों की तुलना नहीं की जा सकती। एक तरफ गौरव वल्लभ ने गहलोत की शान में खूब कसीदे पढ़ें तो दूसरी ओर जी-23 ग्रुप मेंबर शशि थरूर द्वारा सोनिया गांधी को भेजे गए पत्र का जिक्र किया। 

शुक्रवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा, "मैं सभी प्रवक्ताओं और पदाधिकारियों से पुरजोर आग्रह करूंगा कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने वाले हमारे किसी भी सहयोगी पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से परहेज करें।"

गहलोत को बताया था थरूर से बेहतर उम्मीदवार
यह हाल ही में कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ के बयान के बाद आया है। उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पार्टी चीफ के लिए शशि थरूर की तुलना में "बेहतर उम्मीदवार" बताकर समर्थन दिया था। उन्होंने कहा कि गहलोत के पास पूर्व केंद्रीय मंत्री के रूप में अनुभव है और उन्होंने 2018 के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को हराया था।

थरूर पर निकाली भड़ास
गौरव वल्लभ ने कहा था कि शशि थरूर की गहलोत से कोई तुलना नहीं की जा सकती। थरूर को केवल सोनिया गांधी को पत्र भेजने के लिए याद किया जा सकता है। वह भी तब जब वो बीमार होकर अस्पताल में भर्ती थीं। हालांकि बाद में गौरव वल्लभ ने यह कहकर सफाई दी कि यह उनकी व्यक्तिगत राय है।

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के लिए फिलहाल अशोक गहलोत और शशि थरूर के बीच सीधा मुकाबला है। हालांकि यह बात भी सामने आ रही है कि दिग्विजय सिंह, मनीष तिवारी और मल्लिकार्जुन खड़गे भी चुनाव में ताल ठोक सकते हैं। हालांकि इन चुनाव में किसके बीच मुकाबला होगा या राहुल गांधी सामने आकर अध्यक्ष पद स्वीकार कर लेंगे, इसका पता नामांकन प्रक्रिया की आखिरी तारीख 30 सितंबर को चलेगा।

epaper