ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशकांग्रेस से उठा 'INDIA' का भरोसा? नीतीश कुमार की पार्टी बोली- भरोसे वाला चेहरा चाहिए

कांग्रेस से उठा 'INDIA' का भरोसा? नीतीश कुमार की पार्टी बोली- भरोसे वाला चेहरा चाहिए

एक तो हिन्दी बेल्ट के अहम राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में अगले पांच साल के लिए उनके लिए दरवाजे बंद हो गए, दूसरा INDIA गठबंधन ने भी उसकी काबलियत पर सवाल करने शुरू कर दिए हैं।

कांग्रेस से उठा 'INDIA' का भरोसा? नीतीश कुमार की पार्टी बोली- भरोसे वाला चेहरा चाहिए
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 04 Dec 2023 02:10 PM
ऐप पर पढ़ें

चार राज्यों पर सामने आए चुनाव नतीजों ने कांग्रेस पार्टी के सामने बड़ा संकट खड़ा कर दिया है। एक तो हिन्दी बेल्ट के तीन अहम राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में अगले पांच साल के लिए उनके लिए दरवाजे बंद हो गए, दूसरा INDIA गठबंधन ने भी उसकी काबलियत पर सवाल शुरू हो गए हैं। INDIA गठबंधन में अब लीडरशिप की लड़ाई तेज हो गई है। चुनाव परिणामों के बाद पहले सपा और फिर नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने कांग्रेस को नसीहत दे डाली। अब नीतीश की पार्टी में एक नेता ने बयान दिया है कि गठबंधन को विश्वसनीय चेहरे की जरूरत है, जिसके पीछे खड़े होकर हम भाजपा को चुनाव में हराए। बातों ही बातों में उन्होंने नीतीश कुमार का नाम आगे बढ़ाया है। कहा है कि इससे हमे मदद मिलेगी।

चार राज्यों पर सामने आए परिणामों ने एक तरफ बीजेपी की झोली में तीन राज्य डाल दिए तो कांग्रेस पार्टी अपने दो राज्यों में चुनाव हार बैठी। हालांकि राहत की बात यह है कि तेलंगाना में कांग्रेस सरकार बनानी जा रही है। लेकिन, INDIA गठबंधन के बाकी दलों के लिए यह उपलब्धि काफी नहीं है। कांग्रेस की हिन्दी बेल्ट में करारी हार ने कांग्रेस पर एक बार फिर सवाल खड़े कर दिए हैं। रविवार को जब परिणाम सामने आने लगे तो पहले गठबंधन के बाकी दलों ने कांग्रेस को नसीहत देनी शुरू कर दी थी।

मध्यप्रदेश में कमलनाथ के साथ सीट बंटवारे को लेकर पहले ही लाल हो चुकी समाजवादी पार्टी ने कहा कि इस चुनाव में कांग्रेस के घमंड की हार हुई है। वहीं, नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने यह कहकर कांग्रेस पर सवाल उठाए कि यह हार इंडिया गठबंधन नहीं सिर्फ कांग्रेस की है। इस चुनाव से यह भी साबित हो गया कि कांग्रेस अकेले चुनाव नहीं जीत सकती।

कांग्रेस की काबलियत पर उठे सवाल
पहले इंडिया गठबंधन में फ्रंट फुट पर चल रही कांग्रेस के लिए चुनावी हार ने सबसे बड़ी परेशानी यह खड़ी कर दी है कि बाकी दलों के पास अब कांग्रेस को आइना दिखाने का मौका मिल गया है। नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू का कहना है कि लोकसभा चुनाव में हमे भरोसे वाले चेहरे की जरूरत है। पार्टी के नेता विजय चौधरी ने कहा है कि गठबंधन को विश्वसनीय चेहरे की जरूरत है। सभी पार्टियों ने फैसला लिया था कि हम मिलकर चुनाव लड़ेंगे और भाजपा को सत्ता से हटाकर ही दम लेंगे। इसके बाद अब हमे बात करनी चाहिए कि गठबंधन का चेहरा कौन होगा? जिसके दम पर हम चुनावी रण में कूदेंगे।

बातों ही बातों में नीतीश के लिए फिल्डिंग
विजय चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार को आगे किया जाए तो हमे चुनाव में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के अथक प्रयास और पहल के आधार पर ही यह गठबंधन बना था। यह सभी लोग जानते हैं और देश भी जानता है। यह सभी का स्पष्ट फैसला था कि हम मिलकर आएं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें