DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकांग्रेस ने बनाई संसद में मोदी सरकार को घेरने की रणनीति, खड़गे बोले- किसान, MSP और लखीमपुर खीरी का मुद्दा उठाएंगे

कांग्रेस ने बनाई संसद में मोदी सरकार को घेरने की रणनीति, खड़गे बोले- किसान, MSP और लखीमपुर खीरी का मुद्दा उठाएंगे

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीNishant Nandan
Thu, 25 Nov 2021 08:40 PM
कांग्रेस ने बनाई संसद में मोदी सरकार को घेरने की रणनीति, खड़गे बोले- किसान, MSP और लखीमपुर खीरी का मुद्दा उठाएंगे

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू हो रहा है। कांग्रेस ने इस सत्र के दौरान केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने की रणनीति तैयार कर ली है। गुरुवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की नई दिल्ली स्थित आवास पर कांग्रेस संसदीय रणनीति समूह की अहम बैठक हुई। बैठक में पार्टी नेता एके एंटनी, आनंद शर्मा, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी, केसी वेणुगोपाल, के सुरेश, रवनीत बिट्टू, जयराम रमेश जैसे दिग्गज पार्टी नेता शामिल हुए। 

बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया कि 'संसद सत्र के पहले दिन यानी 29 नवंबर को ही कांग्रेस किसानों और एमएसपी का मुद्दा उठाएगी। इसके अलावा लखीमपुर खीरी कांड को लेकर केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा को कैबिनेट से हटाने के मुद्दे पर भी पार्टी केंद्र सरकार को घेरेगी। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि हम संसद के अंदर विभिन्न पार्टियों को इन मुद्दों पर एक साथ लाएं।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया कि हमने तय किया है कि हम संसद में महंगाई, पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी, चीन की आक्रमकता और जम्मू और कश्मीर जैसे अहम मुद्दों को उठाए्ंगे। बता दें कि पिछली बार की तरह इस बार भी सत्र के हंगामेदार होने की संभावना है। कांग्रेस मोदी सरकार को सदन में घेरने की पूरी कोशिश करेगी और आज इस बैठक में इस पर रणनीति भी बना ली गई है।

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि किसानों की मांग के अलावा भी कई अहम मुद्दे हैं। एमएसपी और लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए 4 किसानों के मामले में केंद्रीय मंत्री के बेटे के शामिल होने का मुद्दा, दामों में बढ़ोतरी यह सभी मुद्दे उठाए जाएंगे। आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी है। हम किसी भी हालत में अपनी ड्यूटी करने की कोशिश करेंगे ताकि अन्य विपक्षी पार्टियां भी इन मुद्दों पर एक साथ आकर बोलें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें