DA Image
27 सितम्बर, 2020|8:03|IST

अगली स्टोरी

महाराष्ट्र में घटा कांग्रेस का रुतबा! अब नहीं रही ‘बड़े भाई' की भूमिका

congress-ncp alliance in maharashtra

महाराष्ट्र में कांग्रेस ने ‘बड़े भाई' की भूमिका खो दी है। महाराष्ट्र में अब कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) बराबर सीट पर चुनाव लड़ेंगे। जबकि अभी तक एनसीपी के मुकाबले कांग्रेस अधिक सीट पर चुनाव लड़ती रही है।

पिछले कुछ चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन एनसीपी के मुकाबले कमजोर रहा है। इसलिए एनसीपी बराबर सीट लेने में कामयाब रही है। कांग्रेस और एनसीपी के बीच गठबंधन दो दशक पुराना है। कांग्रेस हमेशा एनसीपी से अधिक सीट पर चुनाव लड़ी। 

महाराष्ट्र चुनाव 2019: भाजपा-शिवसेना में सीटों के बंटवारे पर फंसा पेंच, जानें केसै सुलझेगा

वर्ष 2004 के विधानसभा में दोनों पार्टियों ने चुनाव पूर्व गठबंधन किया, तो कांग्रेस 157 और एनसीपी 124 सीट पर चुनाव लड़ी थी। दोनों पार्टियों में 33 सीट का फर्क था। इन चुनाव में एनसीपी को कांग्रेस से दो सीट अधिक मिली, पर एनसीपी ने कांग्रेस को ‘बड़ा भाई' स्वीकार करते हुए गठबंधन सरकार का मुख्यमंत्री बनाया।

कांग्रेस के खाते में सिर्फ एक सीट : कुछ माह पहले हुए लोकसभा चुनाव दोनों पार्टियों ने गठबंधन में लड़ा था। चुनाव में कांग्रेस बड़े भाई की भूमिका में थी। कांग्रेस ने 25 और एनसीपी ने 20 सीट पर चुनाव लड़ा। इन चुनाव में भी एनसीपी चार सीट जीतने में सफल रही। जबकि कांग्रेस के हिस्से में सिर्फ एक सीट आई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Congress No More Big Brother in Maharashtra Assembly Elections