ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकांग्रेस को बड़ी चोट देने की तैयारी, हाथ से निकल सकती है संसद की दो अहम समितियों की अध्यक्षता

कांग्रेस को बड़ी चोट देने की तैयारी, हाथ से निकल सकती है संसद की दो अहम समितियों की अध्यक्षता

फिलहाल कांग्रेस पार्टी के पास गृह मामलों और सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी समितियों की अध्यक्षता है। ऐसे में अगर उससे इन दो अहम समितियों की अध्यक्षता वापस ली जाती है तो पार्टी के हाथ में कुछ नहीं बचेगा

कांग्रेस को बड़ी चोट देने की तैयारी, हाथ से निकल सकती है संसद की दो अहम समितियों की अध्यक्षता
Ashutosh Rayएजेंसी,नई दिल्लीThu, 22 Sep 2022 11:39 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस के हाथ से संसद की दो महत्वपूर्ण समितियों की अध्यक्षता निकल सकती है जिसमें गृह मामलों से संबंधित समिति और सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी समिति शामिल है। सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस बारे में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी संसदीय समिति की अध्यक्षता कांग्रेस से वापस ली जा रही है।

बुधवार को लिखे पत्र में चौधरी ने कहा कि उन्हें संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी से यह जानकर आश्चर्य हुआ कि कांग्रेस से सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी स्थायी समिति की अध्यक्षता का दायित्व वापस लेने का निर्णय किया गया है जिसके अध्यक्ष पार्टी सांसद शशि थरूर हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि यह स्थापित परंपरा के विपरीत है जिसका सरकारों द्वारा अब तक लगातार अनुसरण किया जा रहा था।

अधीर रंजन चौधरी ने किया विरोध

अधीर रंजन चौधरी ने कहा, 'सरकार को यह समझना चाहिए कि विभाग संबंधी स्थायी समिति जैसे महत्वपूर्ण निकायों में चर्चा और संवाद तथा दलगत भावना से ऊपर उठकर सहयोग को प्रोत्सहित करने के सिद्धांतों का सम्मान किया जाना चाहिए।' इस कदम के पीछे की मंशा पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस के नेता ने कहा कि राज्य सभा में भी ऐसा ही रुख अपनाया जा रहा है और इस संबंध में उपरी सदन में कांग्रेस की घटती संख्या का संदर्भ दिया जा रहा है। 

मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी किया विरोध

सूत्रों के अनुसार, राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सदन के नेता पीयूष गोयल को पत्र लिखकर गृह संबंधी संसद की स्थायी समिति की अध्यक्षता कांग्रेस से लिए जाने के प्रयास का विरोध किया है। बता दें कि गृह मामलों से संबंधित स्थायी समिति के अध्यक्षत अभी कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी हैं।

epaper