ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशकेसी वेणुगोपाल ने रेस्टोरेंट में पी शराब? आरोप पर भड़की कांग्रेस, FIR दर्ज

केसी वेणुगोपाल ने रेस्टोरेंट में पी शराब? आरोप पर भड़की कांग्रेस, FIR दर्ज

कांग्रेस एमएलसी डॉ. वेंकट नरसिंग राव बालमूर ने हैदराबाद के साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में यह शिकायत दर्ज कराई है। इसमें कहा गया, 'हमने सोशल मीडिया पर इस तरह की शरारत का संज्ञान लिया है।'

केसी वेणुगोपाल ने रेस्टोरेंट में पी शराब? आरोप पर भड़की कांग्रेस, FIR दर्ज
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 14 Jun 2024 09:31 PM
ऐप पर पढ़ें

क्या कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने रेस्टोरेंट में शराब पी थी? पार्टी की ओर से इस दावे को झूठा बताया गया है और यह कहा कि वह ब्लैक टी पी रहे थे। कांग्रेस ने शुक्रवार को इसे फर्जी दावा बताते हुए हैदराबाद में शिकायत दर्ज कराई। साथ ही, आरोप लगाया गया कि यह जानबूझकर वेणुगोपाल की छवि को खराब करने का प्रयास है। कांग्रेस की ओर से एक्स पर पोस्ट में कहा गया, 'बेफिटिंग फैक्ट्स नाम के अकाउंट से फर्जी खबर फैलाई जा रही है। यह गलत आरोप लगाया गया कि केसी वेणुगोपाल ने रेस्तरां में शराब पी। सच यह है कि वह ब्लैक टी पी रहे थे। यह जानबूझकर उनकी छवि खराब करने के लिए किया गया है।'

कांग्रेस एमएलसी डॉ. वेंकट नरसिंग राव बालमूर ने हैदराबाद के साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में यह शिकायत दर्ज कराई है। इसमें कहा गया, 'हमने एक तरह की शरारत का संज्ञान लिया है। कांग्रेस MLC डॉ. वेंकट नरसिंग राव बालमूर ने हैदराबाद के साइबर अपराध पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराई है।' कांग्रेस की ओर से कहा गया कि यह फर्जी खबर फैलाने के पीछे शशांक सिंह नाम का शख्स है। पोस्ट में कहा गया, 'शशांक सिंह ने न केवल तस्वीर के साथ गलत कैप्शन पोस्ट किया, बल्कि उसने केरल पुलिस को भी टैग किया। उनसे लिखा था कि केसी वेणुगोपाल के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।' 

कांग्रेस ने इसे गंभार आरोप बताया 
पुलिस थाने में दर्ज शिकायत में कहा गया, 'यह गंभीर आरोप है। केसी वेणुगोपाल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक बेहद प्रतिष्ठित नेता हैं। साथ ही, वह संसद में लाखों भारतीय नागरिकों का प्रतिनिधित्व करते हैं।' इसे लेकर भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 499/500 (मानहानि), 503 (आपराधिक धमकी), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) और 505 (2) (बयान बनाना या प्रचार करना) अलग-अलग वर्गों के बीच शत्रुता, घृणा, या द्वेष फैलाना के तहत मामला दर्ज किया गया है। कांग्रेस की ओर से आगे कहा कि इन फर्जी खबरों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। साथ ही, दोषियों को इसके नतीजे भुगतने पड़ेंगे।