DA Image
22 सितम्बर, 2020|10:58|IST

अगली स्टोरी

सकल घरेलू उत्पाद में आकस्मिक गिरावट को लेकर प्रियंका गांधी का केन्द्र पर हमला

congress leader priyanka gandhi  file pic

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने सकल घरेलू उत्पाद में हुई आकस्मिक गिरावट को लेकर मंगलवार को केन्द्र पर निशाना साधा। प्रियंका ने कहा कि उनके भाई और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने छह महीने पहले ही "आर्थिक सुनामी" का अनुमान लगाया था। प्रियंका ने ट्वीट करते हुए लिखा- "छह महीने पहले राहुल गांधी ने आर्थिक सुनामी को लेकर चेताया था। कोरोना संकट के दौरान एक आर्थिक पैकेज का ऐलान किया गया। अब स्थिति देखिए, जीडीपी -23.9 फीसदी है।"

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए मार्च में देशव्यापी लॉकडाउन के चलते भारत के जीडीपी में 23.9 फीसदी की गिरावट आई है। सरकार की ओर से सोमवार को जारी सरकारी आंकड़े के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में अथर्व्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की अब तक की सबसे बड़ी तिमाही गिरावट आई है।

ये भी पढ़ें: चालू वित्त वर्ष में वास्तविक GDP में आएगी 10.9 प्रतिशत की गिरावट: SBI

इस दौरान कृषि को छोड़कर विनिर्माण, निर्माण और सेवा समेत सभी क्षेत्रों का प्रदर्शन खराब रहा है। सबसे अधिक प्रभाव निर्माण उद्योग पर पड़ा है। जो 50 प्रतिशत से भी अधिक गिरा है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के आंकड़े के अनुसार सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में इससे पूर्व वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में 5.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए 25 मार्च से पूरे देश में 'लॉकडाउन लगाया था। इसका असर अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों पर पड़ा है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में सकल मूल्य वर्धन (जीवीए) में 2020-21 की पहली तिमाही में 39.3 प्रतिशत की गिरावट आई जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में इसमें 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

हालांकि कृषि क्षेत्र में इस दौरान 3.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई। एक साल पहले 2019-20 की पहली तिमाही में 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। निर्माण क्षेत्र में जीवीए वृद्धि में चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 50.3 प्रतिशत की गिरावट आई जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में 5.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। खनन क्षेत्र उत्पादन में 23.3 प्रतिशत की गिरावट आई जबकि एक साल पहले 2019-20 इसी तिमाही में 4.7 की वृद्धि हुई थी।

ये भी पढ़ें: केंद्र ने SC को कहा- 2 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है लोन मोरेटोरियम 

बिजली, गैस, जल आपूर्ति और अन्य उपयोगी सेवा क्षेत्र में भी 2020-21 की पहली तिमाही में 7 प्रतिशत गिरावट आई जबकि एक साल पहले 2019-20 की इसी तिमाही में 8.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। आंकड़े के अनुसार व्यापार, होटल, परिवहन, संचार और प्रसारण से जुड़ी सेवाओं में आलोच्य तिमाही में 47 प्रतिशत की गिरावट आई जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में 3.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Congress leader Priyanka attack over plummeting GDP growth