DA Image
10 अप्रैल, 2020|5:48|IST

अगली स्टोरी

'राजधर्म' पर कपिल सिब्बल का प्रधानमंत्री मोदी पर तंज, कहा- जब वाजपेयी की नहीं सुनी तो हमारी क्या सुनेंगे

kapil sibal tweeted on sunday to take on the union minister   s comments at a press conference  ani   ph

राजधर्म पर केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद की तरफ से कांग्रेस को खुद अपने अंदर झांकने के दिए बयान के एक दिन बाद बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं शनिवार को भी इस पर आरोप-प्रत्यारोप हुआ। 

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की तरफ से प्रतिनिधिमंडल के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के बाद 'राजधर्म और कर्तव्य के पालन' की सीख पर रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को देश की सबसे पुरानी पार्टी पर जमकर बरसे थे।

सोनिया ने प्रतिनिधिमंडल के साथ ज्ञापन सौंपते हुए उत्तर-पूर्व दिल्ली में साम्प्रदायिक हिंसा के चलते गई 40 से ज्यादा जानों को लेकर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफे की मांग की थी।

कपिल सिब्बल ने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रविशंकर प्रसाद की टिप्पणी को लेकर उन पर हमला किया। सिब्बल ने कहा- “कानून मंत्री ने कांग्रेस से कहा कि कृपया हमें राजधर्म न सिखाएं। हम कैसे सिखा सकते हैं मिनिस्टर? जब आपने गुजरात में वाजपेय जी की नहीं सुनी तो आप हमारी कैसे सुनेंगे!” उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- “सुनना, सीखना और राजधर्म का पालन इनमे से एक भी आपके सरकार के मजबूत प्वाइंट्स नहीं है।”

सीनियर कांग्रेस नेता अटल बिहारी वाजपेयी के गुजरात में 2002 के दौरान हुए साम्प्रदायिक हिंसा का जिक्र कर रहे थे जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वहां के सीएम थे।

ये भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा के दंगाइयों से नुकसान की भरपाई कराएगी दिल्ली पुलिस

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Congress leader Kapil Sibal advice to BJP on Rajdharma over Delhi violence